Horoscope Explorer

गुरू के घर परिवर्तन का मकर राशि पर प्रभाव (Impact of Jupiter’s Transit Into Aquarius on Capricorn Sign)

जन्म राशि मकर से निकलकर कुम्भ राशि में प्रवेश करने पर गुरु का गोचर जन्म राशि से दूसरे भाव में होगा. जन्म राशि से दूसरी राशि में गुरू का आना आपके लिए बहुत ही शुभ फलदायी है. ये स्थिति इन दिनों आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा तथा व्यवहार में भी बदलाव आएगा जिससे आपके सम्मान में वृद्धि होगी. गुरू का राशि परिवर्तन आपके लिए कई मायने में शुभकारी रहेगा. एक लम्बे समय से चली आ रही दुविधाओं और रुकावटों की स्थिति साफ हो सकेगी.

मकर राशि के जातकों के लिए जीवन में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव होंगे. ये बदलाव शुभता की दृष्टि से अधिक ही होंगे. यहां गुरु की कृपा दृष्टि के कारण व्यक्ति के जीवन में एक नई अनुभूति और नई चेतना का आगमन होता है. आर्थिक लाभ, मान-सम्मान और कमाई के क्षेत्र बढ़ते हैं. जातक अपने मन अनुरुप खर्च भी करता है. इन सभी बातों के अलावा इस बात का ध्यान रखने की भी जरुरत होती है की इस समय जो बेहतर अवसर प्राप हो रहे हों उन्हें सही ढंग से उपयोग में लाएं जिससे की भविष्य में इनका लाभ मिलता रहे.


आजीविका (Jupiter’s Transit and Business for Capricorn)

रोजगार के विषय में गुरू का यह गोचर सफलता की नई राहें खोलेगा. व्यवसाय में लाभ अच्छे अवसर प्राप्त होंगे तथा व्यवासाय उन्नत होगा. नौकरी करते हैं तो आपके पद एवं प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी. आपके कार्य को सराहा जाएगा. आप काफी समय से अच्छी नौकरी की तलाश में हैं तो इस अवधि में आपकी तलाश पूरी हो सकती है यानी अच्छी नौकरी मिल सकती है.

कारोबार के सिलसिले में विदेश यात्राओं के भी अवसर प्राप्त होंगे. कुछ नए काम को शुरु करने का अवसर भी मिल सकता है. कुछ ऎसी चीजों की शुरुआत हो सकती है जो एक समय के लिए नामुमकिन से लग रहे हो. किसी किसी मदद या किसी की आर्थिक सहायता काम को आगे बढा़ने में भी सहायक बन सकती है. अगर कोई काम पहले से कर रहे है तो इस समय उसमें विस्तार भी कर सकते है.

इस समय के दौरान जो भी काम आरंभ किया गया हो वह कुछ आशाजनक नतीजे देने में सहायक बनता है. पर इसी के साथ कुछ ऎसी परिस्थितियां भी सामने होती हैं जो काम में अटकाव देने वाली होंगी. यह स्थिति अभी असर न कर पाए लेकिन गोचर की समाप्ति पर इसका प्रभाव दिखाई देता है. ऎसे में आवश्यक है की इन चीजों के प्रति सतर्क रहा जाए और भविष्य की योजनाओं पर गंभीर रुप से विचार भी किया जाए.


आर्थिक विषय (Jupiter’s Transit and Finance for Capricorn)

धन सम्बन्धी विषय में भी आपके लिए यह समय शुभ रहेगा. इन दिनों आय में बढ़ोतरी होगी तथा लाभ के सुनहले अवसर प्राप्त होंगे. जीवनसाथी के माध्यम से भी लाभ के योग बनेंगे. इस अवधि में आपके लिए अच्छी बात यह है कि जितनी मेहनत करेंगे तथा अपनी योग्यता का इस्तेमाल करेंगे आर्थिक स्थिति उतनी ही मजबूत होगी. पिछले कुछ समय से जिन क्षेत्रों से लाभ नहीं मिल रहा था उनसे भी लाभ मिलेगा. कोशिश करेंगे तो भूमि अथवा घर भी खरीद सकते हैं.

यह स्थिति आपके उधार या किसी भी प्रकार के ऋण इत्यादि लेने की स्थिति से भी बचाव दिलाने में सहायक होती है. इसके अतिरिक्त यदि जातक ने किसी बैंक इत्यादि से कोई आर्थिक सहायता लेने की कोशिश की हो तो इस समय उसमें बिना किसी रुकावट के लोन पास हो सकता है. इस समय की स्थिति कुछ इस प्रकार की होती है जो जातक के लिए बेहतर संभावनाओं के द्वारा खोलने में मदद करती है.

इस समय जातक को अपने किसी मित्र अथवा बाहरी व्यक्ति से भी कुछ सहायता मिल सकती है. ये स्थिति जातक को सामाजिक रुप से भी मजबूत बनाती है और व्यक्ति दूसरों के सहयोग को पाकर आगे बढ़ता है.


पारिवारिक (Jupiter’s Transit and Family for Capricorn)

आपकी गृहस्थी में गुरू का यह गोचर खुशियों की बरसात कर रहा है. यही कारण है कि जीवनसाथी और आपके बीच सम्बन्धों में मधुरता आएगी तथा पारिवारिक मुद्दों को बातों से सुलझा पाएंगे. घर में विवाह जैसे मांगलिक कार्य सम्पन्न हो सकते हैं. घर में संतान का जन्म हो सकता है इससे भी आपको आनन्द और हर्ष की अनुभूति होगी.

अन्य विषयों में गुरू के घर परिवर्तन का प्रभाव

घर पर सदस्यों की संख्या भी बढ़ सकती है. मेहमानों का आना या अचानक से किसी नए सदस्य का आगमन भी हो सकता है. इस समय स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं में कमी आएगी और आमतौर पर आपकी सेहत अच्छी रहेगी. अदालती मामलों में भी फैसला आपके पक्ष में हो सकता है. विरोधियों को हार का मुंह देखना पड़ सकता है.

मित्रों के साथ एक बेहतर समय मिलता है. ये समय दोस्तों के साथ मिलकर कुछ नए एडवेंचर करने वाला भी बन जाता है. सभी के साथ मिलकर कुछ ट्रैवलिंग पर जाने और नई चीजों की खोज भी कर सकते हैं. मित्रों की ओर से आपको एक बेहतर हेल्प भी इस समय मिल सकती है.


उपाय (Remedies)

मकर राशि के जातकों के लिए गुरु का कुम्भ राशि में गोचर करना एक बहुत ही शुभ स्थिति होती है. इस गोचर का फल जातक को समस्याओं से मुक्ति दिलाने और नई दिशाएं देने वाला होता है. गुरु (बृहस्पति) की शुभता के लिए जातक को प्राप्त होती है पर इस शुभता को और अधिक फलदायक बनाने के लिए यदि कुछ उपाय कर दिए जाएं तो स्थिति उत्तम परिणाम देने में सहायक होती है. गुरु के लिए उपाय यहां दिए जा रहे हैं -

गुरू के इस राशि में गोचर का पूर्ण लाभ पाने के लिए आपको नक्षत्रों की पूजा उपासना करनी चाहिए.

भगवान विष्णु की आराधाना और तुलसी पूजा.

गुरूवार के दिन व्रत व पूजा भी कर सकते हैं, यह भी आपके लिए लाभप्रद रहेगा.

माथे पर नियमित रुप से केसर या हल्दी का तिलक करना शुभता बढ़ाने वाला होता है.

गुरु का राशि परिवर्तन और उस समय चल रही आपकी दशा एवं महादशा की स्थिति कुण्डली में किस प्रकार होगी यह भी समझने की आवश्यकता होती है. इन चीजों का अध्ययन करके हम गुरु के गोचर फल को एक बेहतर और विस्तृत दृष्टिकोण से समझ सकते हैं.

Article Categories: Kundli