Customised Vedic Jyotish Reports

Premium Reports

Vedic Astrology Reports

कृष्णमूर्ति पद्धति और अष्टम भाव – KP Astrology and Eighth House


अष्टम भाव मृत्यु स्थान के रुप में विशेष रुप से जाना जाता है. जन्म से लेकर तमाम उम्र जो चीज़ व्यक्ति को सबसे अधिक परेशान करती है, वह मृ्त्यु. मृ्त्यु से संबन्धित प्रश्न के लिये अष्टम भाव का विचार किया जाता है. अष्टम भाव से छुपी हुई या गुप्त बातें देखी जाती है. मृत्यु भाव होने के कारण इस भाव को शुभ नहीं समझा जाता है इसलिये जिस घटना से इस भाव का संबन्ध बनता है. उसमें शुभ फल कम मिलने की संभावना रहती है.

अष्टम भाव से विचार की जाने वाली बातें:(Other Information of the Eighth House as per K P Systems)
अष्टम भाव गुप्त शत्रुओं (enemies) के विषय में बताता है, साजिश, छुपी योजनाएं, प्यार के छुपे मामले, दुर्घटना, आँपरेशन, गर्भपात, शरीर के हिस्से बेकार हो जाना, अपयश व नैतिक पतन इस भाव से देखा जाता है. इस भाव से मृत्यु के समय शरीर की स्थिति की भी जानकारी मिलती है तथा अचानक होने वाली हानि व लाभों के लिये भी अष्टम घर को देखा जाता है. इस घर के बली होने पर शेयर बाजार, रेस से आय की प्राप्ति होती है.

अष्टम भाव की विशेषताएं:(Specialties of the Eighth House as per K P Systems)
अष्टम भाव से प्राप्त होने वाली आय के पीछे कष्ट या दुख प्राप्त होने की संभावनाएं बनती है. इस भाव से विवाह के बाद प्राप्त होने वाले धन की जानकारी प्राप्त होती है. अष्टम भाव से धन की प्राप्ति की संभावना तो रहती है. परन्तु इसमें भी अशुभ प्रभाव बना रहता है जैसे:- नौकरी छुटने पर ग्रेच्युटी की प्राप्ति, किसी अपने की मृत्यु के बाद वसीयत की प्राप्ति, दुर्घटना के बाद मुआवजे की प्राप्ति में बाधा आती है.

अन्य बातें:-(Other Information as per K P Systems)
इस घर को गोपनीय विषयों के लिये देखा जाता है. इसलिए पुलिस विभाग, जासूसी, आँडिट डिपार्टमेन्ट, किसी भी विभाग में पूछताछ के काम, अग्निशमन दल, सफाई विभाग, सर्जरी, जन्म-मृत्यु पंजीकरण का दफ्तर, जहर, बडी असफलता, बीमा ऎजेंट आदि का भी इसी इस घर से देखा जाता है.

इस भाव से संबन्धित अन्य फल:- (Other Results of the Eighth House as per K P Systems)
अष्टम भाव से छोटे भाई-बहनों के स्वास्थ्य में खराबी, नौकरी, धन अर्जन और ऋण, मां की नौकरी में बदलाव, लम्बी अवधि की बीमारियां, संतान की शिक्षा, घर और वाहन खरीदना, जीवनसाथी का धन कमाना, पिता का नुकसान, मोक्ष, भाई-बहन या दोस्तों का प्रमोशन, यश, सम्मान. इन सभी बातों का विचार किया जाता है.

अन्य भावों से संबन्धित फल:(Relationship of the Eighth House with other House and Its Results as per K P Systems)
अष्टम भाव नवम भाव से बारहवां भाव होने के कारण पिता के स्वास्थय में कमी का कारण हो सकता है. भाग्य में आने वाली बाधाओं को जानने के लिए भी अष्टम भाव को देखा जाता है. धर्म-कर्म में मन नहीं लगने का कारण भी आवठें घर से जाना जाता है. उच्च शिक्षा एवं अनुसंधान के क्षेत्र में मिलने वाले विरोध का कारण भी यही घर होता है.

व्यवसाय के लिये की जाने वाली यात्राओं में लाभ की स्थिति का विचार भी आठवें घर से किया जाता है. आठवां भाव अस्पताल का भी भाव होता है इसलिए जब छठे घर का संबन्ध, अष्टम भाव से बनता है तो व्यक्ति लम्बे समय तक रोग से पीड़ित होगा यह जानकारी मिलती है.
Article Categories: KP Astrology

bottom
Free Vedic Jyotish

Free Reports

Free Vedic Astrology

All content on this site is copyrighted.


Do not copy any content without permission. Violations will attract strict legal penalties.