आज हम अंको के सिंक्रनाईजेशन के बारे में बात करेगें. अंक किस तरह से एक - दूसरे के साथ तालमेल बिठा सकते हैं और किस तरह से नहीं, सभी नौ अंको को तीन मुख्य समूहो में बांटा गया है. पहले समूह में 1,2,4,7 अंक आते हैं. दूसरे समूह में 3,6,9 अंक आते है और तीसरे समूह में 5 व 8 अंक आते हैं. पहले समूह के अंको से संबंधित लोगों की दूसरे समूह के लोगो से कम निभती है. तालमेल नहीं रहता है. तीसरे समूह के लोगो की पहले और दूसरे दोनो ही समूहों के लोगो से निभ जाती है. इन्हीं समूहों के आधार पर अंको का
आज हम अंक 22 के बारे में बात करेगें. आपके नाम की स्पेलिंग अथवा आपके जन्म तारीख का कुल जोड़ अगर 22 आता है तब आपको इसे दुबारा नहीं जोड़ना है. इसे 22 के रुप में ही लेना है. 2+2=4 नहीं करना है. इस अंक का संबंध आध्यात्मिक शक्तियो से माना गया है. हिब्रूओ की वर्णमाला में 22 अक्षर होते है और उन्हें भगवान की भाषा माना गया है. इस बात से इस नंबर का रहस्य ज्यादा गहराता है और आध्यात्मिकता का महत्व भी इस अंक से ज्यादा जुड़ जाता है. अंक 22 का व्यक्ति पर सकारात्मक प्रभाव | Positive Traits
आज हम कार्मिक नंबर 11 की बात करेगें. आपके नाम की स्पेलिंग कि हिज्जो का जोड़ यदि 11 आए या आपकी जन्म दिन 11 को पड़े अथवा आपके जन्म तारीख की सभी संख्याओ का जोड़ 11 आता है तब आप इस अंक को ऎसे ही लेगें. इसे 1+1 = 2 नहीं करेगें. यह बहुत ही शुभ अंक माना जाता है और इसे कार्मिक अंक कहा गया है. अंक 11 के सकारात्मक प्रभाव | Positive Traits of Number 11 आइए अंक 11 के सकारात्मक प्रभाव के बारे में जानने का प्रयास करें. इस अंक के प्रभाव से आप के अंदर मानवता का गुण विद्यमान होगा इसलिए आप
हम अंको के वर्गीकरण के बारे में चर्चा करेगें. वैसे तो अंकशास्त्र में कई प्रकार से अंको का विभाजन किया गया है लेकिन यहाँ आज हम केवल दो ही प्रकार के वर्गीकरण के बारे में बात करेगें. विषम राशि और सम राशि. विषम राशियों और सम राशियों की अपनी-अपनी विशेषताएँ होती हैं. यह विशेषताएँ क्या होती है और इन विशेषताओं का व्यक्ति पर क्या प्रभाव पड़ता है, इन सभी बातों का जिक्र इस वेबकास्ट में किया जाएगा. विषम अंको की विशेषताएँ | Charactristics of Odd Numbers आइए सबसे पहले आज हम विषम
1 से 8 तक के अंकों की चर्चा अब तक हम पिछली वेबकास्ट में कर चुके हैं आज हम अंक नौ की बात करेगें. अंक नौ में सभी अंको का समावेश माना जाता है. यह सभी अंको में सबसे बड़ा और शक्तिशाली माना जाता है. इसमें तीन का गुणांक तीन बार आता है अर्थात 3x3x3 = 9 होता है. इसलिए इस अंक के लोगों में रचनात्मकता और कल्पनाशक्ति बहुत अच्छी होती है. अंक नौ का स्वामी ग्रह मंगल होता है और मंगल के प्रभाव से आप बहुत साहसी और पराक्रमी व्यक्ति भी होते है. अंक नौ के प्रभाव से आपकी विशेषताएँ |
आपका जन्मदिन अगर 11 तारीख को आता है तब आपके भीतर अंक 11 की विशेषताएँ तो आएंगी ही साथ ही आपके अंदर अंक एक और अंक दो की विशेषताएँ भी देखने को मिलेगी क्योंकि अंक 11 में एक भी आता है और 11 को 1+1 करने पर अंक दो मिलता है. इस प्रकार आपका जन्मदिन अगर 11 तरीख को आता है तब आपमें बहुत सी खूबियाँ एक साथ नजर आ सकती हैं. अंक 11 बहुत ही शुभ माना गया है. इसका संबंध आध्यात्म से जोड़ा गया है. इस अंक के प्रभाव से आप बहुत ही आदर्शवादी व्यक्तित्व के व्यक्ति होते हैं और आपके भीतर अत्यधिक तीव्र
जिस दिन व्यक्ति का जन्म होता है तब उस दिन के अंक की विशेषता उसके व्यक्तित्व में दिखाई देती है. अंक शास्त्र में 1 से 9 अंको तक की ही गणना की जाती है लेकिन आज हम 9 से आगे बढ़कर 10 तारीख के दिन पैदा हुए जातको की विशेषताओं के बारे में बात करेगें. इन जातकों की सभी विशेषताऔम के बारे में बताने का प्रयास इस लेख के माध्यम से किया जाएगा. यदि आपका जन्मदिन 10 तारीख को आता हैं तब आप अपने जीवन से बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षाएं रखने वाले व्यक्ति हो सकते हैं. आप किसी का दबाव अथवा जोर
अंक शास्त्र में बहुत सी बातों का आंकलन किया जाता है. यदि हम सूक्ष्मता से इस विद्या का उपयोग करें तब हमें बहुत सी बातों का सही फलकथन कर सकते हैं. इस विद्या में बहुत सी बातों को स्पष्ट रुप से देखा जा सकता है. जिस तरह से जन्म कुण्डली के माध्यम से आप लड़का और लड़की का मिलान विवाह के लिए किया जाता है ठीक उसी तरह अंको के द्वारा भी लड़के और लड़्की को विवाह की दृष्टि से मिलाया जा सकता है. जिनए प्रेम संबंध चल रहे होते हैं वह भी अंक शास्त्र के माध्यम से यह जान सकते हैं कि वह आपस में कितना
आज हम अंक आठ की बात करेगें. इस अंक का स्वामी ग्रह शनि है. शनि के बारे में बहुत सी भ्रांतियां लोगो के बीच फैली हुई हैं लेकिन ये सच नहीं हैं. शनि को न्याय का ग्रह कहा जाता है इसलिए इस ग्रह के प्रभाव से व्यक्ति अन्याय के खिलाफ आवाज उठाता है. आठ में 4+4 होता है और 2+2+2+2 की शक्ति भी होती है. इसका अर्थ यह हुआ की आठ में अपनी विशेषता तो होती ही है, साथ ही अंक चार और अंक दो की भी विशेषता होती है. अंक आठ के प्रभाव से व्यक्ति की विशेषता | Characteristics of Number 8 अंक आठ
अंकशास्त्र में बहुत सी बातों का अधय्यन किया जाता है. इस विद्या का एक सीधा सा नियम है, जिसके अनुसार आपके नाम के अंको का कुल जोड़ या आपकी जन्म तारीख के अंको का कुल जोड़ आपकी किसी भी महत्वपूर्ण बात या घटना से अच्छा तालमेल बनाता है तब वह आपके लिए अच्छे फल प्रदान करने वाली होगी अन्यथा शुभ फलों में कमी होगी. आज इस लेख के माध्यम से हम आपको आपकी गाड़ी का अंक और मोबाईल के अंक के बारे में बताने का प्रयास करेगें. गाड़ी का नंबर | Car Number आप गाड़ी खरीदते समय बहुत सी बातों
अब तक हम आपके सामने अंक एक, दो, तीन, चार, पांच और छ: के बारे में चर्चा कर चुके हैं. इन अंको से संबंधित व्यक्तियो के अच्छे व बुरे दोनो ही पहलुओ के बारे में हमने बताने का प्रयास किया है. आज इसी श्रृंखला में हम अंक सात के बारे में चर्चा करेगें. इस अंक से जुड़ी सभी बातो का क्रम से जिक्र किया जाएगा. इस अंक का स्वामी नेप्च्यून अथवा केतु को माना जाता है. कई मतानुसार इस अंक में चंद्रमा के कुछ निष्क्रिय गुणो का भी समावेश होता है. यह अंक रहस्यमयी अंक भी माना जाता है. इसमें बहुत सी विशेषताओं का भंडार
अंकशास्त्र में हर अंक एक विशेष ऊर्जा का प्रवाह करता है. हर अंक के अपने कुछ सकारात्मक और नकारात्मक पहलू होते हैं. जन्म के समय हर बच्चे के साथ कुछ खास ऊर्जा आती हैं. जिनके आधार पर वह जीवन में सफलता अथवा विफलता पाता है. इसके अलावा जन बच्चे का नाम रखा जाता है तब उसके नाम का प्रभाव भी उसके जीवन में बहुत ज्यादा महत्व रखता है. आज हम अंक छ्: के बारे में बातचीत करेगें. जीवन से जुड़े सभी पहलुओ पर रोशनी डालने का प्रयास किया जाएगा. इस अंक का स्वामी ग्रह शुक्र माना गया है और शुक्र का संबंध कला से
अंक पांच का स्वामी ग्रह बुध को माना गया है और बुध को ग्रहो का राजकुमार माना जाता है. हर समय यह बली रहता है. बहुत से गुणो तथा अवगुणो से भरा होता है लेकिन फिर भी अंक पांच के जातको की कुछ अपनी विशेषताएँ होती है जो इसे बाकी अंको के जातको से भिन्न बनाती है. यह तर्क शास्त्र में अत्यधिक निपुण होता है. आइए अंक पांच की सभी तरह की विशेषताओं के बारे में जानें. अंक पांच के सकारात्मक पहलू | Positive Traits of Number 5 आपका अंक पांच है तो आइए सबसे पहले आपके भीतर मौजूद आपके
अंक शास्त्र का अगर सूक्ष्मता से अध्ययन किया जाए तब व्यक्ति विशेष के बारे में बहुत सी बाते उजागर होती हैं. हर अंक का अपना महत्व माना गया है. आज हम दिल के नंबर के बारे में बात करेगें. हर व्यक्ति का अपना हर्ट नंबर होता है. हर नंबर के व्यक्ति की अपनी विशिष्ट पहचान होती है. हम हर्ट नंबर 6,7,8,9,11 और 22 की चर्चा करेगें. हर्ट नंबर छ्: के व्यक्ति की विशेषता | Characteristics of Heart Number 6 अंक छ्: के प्रभाव से आप सभी बातो तथा जगहो पर सामंजस्यपूर्ण रुप से चलते हैं. आपको
हम अंक 4 के जीवन से संबंधित सभी पहलुओ पर बात करने का प्रयास करेगें. अंक चार के व्यक्ति की क्या विशेषताएँ होती है, उसकी कमियाँ क्या है और किन क्षेत्रो में वह सफलता हासिल कर सकता है आदि बातो का वर्णन आज हम आप सभी के सामने प्रस्तुत करेगें. अंक चार को कई विद्वान यूरेनस का अंक मानते है तो कई विद्वान राहु को इस अंक का स्वामी मानते हैं. अंक 4 के प्रभाव से व्यक्ति का सकारात्मक पहलू | Positive Traits related to Number 4 आज हम सबसे पहले अंक चार के सकारात्मक पहलुओ पर विचार करते
अंक शास्त्र में को गूढ़ विद्याओ में महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है. हर अंक के पीछे एक रहस्य छिपा है जिसका सीधा संबंध अलौकिकता से है. हरेक अंक की अपनी स्वतंत्र और विशेष ऊर्जा होती है. सभी नौ अंको की ऊर्जा एक - दूसरे से टकराती है. अंको के समूह बनाए गए हैं और अपने ही समूह से यह मेल खाते हैं. यदि किसी दूसरे समूह से कभी पाला पड़ जाए तो उनके विचार आपस में सदा टकराते ही रह सकते हैं. ग्रुप 1-5-7 की विशेषताएँ | Characteristics of Numbers 1, 5 and 7 आइए सबसे पहले पुरुष अंकों
सदियो पहले से मनुष्य अंको के महत्व को समझता आ रहा है. जब बच्चे का नामकरण किया जाता है तब उसके नाम का प्रभाव उसके व्यक्तित्व तथा चरित्र पर और जीवन में होने वाली घटनाओ पर स्पष्ट झलकता है. अंक 3 की विशेषताएँ | Characteristics of Life Number 3 अंक 3 का स्वामी ग्रह गुरु को माना गया है. आपके नाम के हिज्जो के कुल जोड़ का योग यदि 3 आता है तब आपका अंक 3 होगा. इस अंक को बाकी सभी अंको से सबसे ज्यादा भाग्यशाली अंक माना जाता है. ईश्वरीय कृपा बनी रहती है और जन्मजात ही
जब माता-पिता अपने बच्चे का नामकरण करते हैं तब उम्र भर के लिए वही नाम उसकी सबसे बड़ी विशेषता बन जाता है. नाम होगा या बदनाम होगा, दोनो ही सूरतो में नाम का महत्व होगा. व्यक्ति का नाम उसके जीवन के भूत, वर्तमान तथा भविष्य की कहानी सुनाता है. व्यक्ति का नाम उसके जीवन की सभी घटनाओ की आत्मकथा प्रस्तुत कर देता है. अंक शास्त्र के अनुसार हर अंक में रहस्यमयी और आध्यात्मिक शक्तियो का समावेश होता है. हर अंक की अपनी विशेषता होती है और एक विशेष विद्युत चुंबकीय शक्ति हर अंक में होती है.
अंक शास्त्र में सभी अंकों का अपना - अपना महत्व माना गया है. आपके नाम की स्पैलिंग के सभी हिज्जो के जोड़ से अंत में जो अंक मिलता है वह आपका नामांक कहा जाता है. अंक दो के सकारात्मक पहलू | Positive Traits of Life Number 2 आपके नाम के हिज्जो के जोड़ का अंतिम अंक अगर दो आता है तब आपका नंबर दो बनेगा. अंक दो का प्रतिनिधित्व चंद्रमा करता है. आपके अंदर नेतृत्व की भावना का अभाव रह सकता है लेकिन आप समूह में काम करने वाले व्यक्ति होगें. अंक दो के प्रभाव से आप शांतिप्रिय व्यक्ति
सभी अंको का अपना विशिष्ट महत्व माना गया है. हर एक अंक का संबंध शरीर के एक विशेष भाग और बीमारी से बनता है. आइए जाने कि किस अंक का संबंध किस विकार से है और उससे कैसे बचा जा सकता है. अंक छ : और आपका स्वास्थ्य | Life number 6 and Health अंक छ्: के प्रभाव से आप घरेलू जीवन की सभी जिम्मेदारियाँ अपने ऊपर ले लेते हैं और आवश्यकता से अधिक घरेलू मामलो में चिपके रहते हैं. आप जीवन में अत्यधिक प्रेम और आवश्यकता से अधिक सामंजस्य बिठाकर चलते हैं और इसकी कमी से आप परेशन हो जाते हैं. जितना

Tag cloud