Customised Vedic Jyotish Reports

Premium Reports

Vedic Astrology Reports

आजीविका में चन्द्र की भूमिका (Role of Moon in Your Profession and Career)


चन्द्रमा पृथ्वी से सबसे निकटतम ग्रह है. इसलिए इसका प्रभाव सबसे जल्दी होता है. ज्योतिषशास्त्र में इसे लग्न के समान ही महत्व दिया गया है. यह जिस राशि में स्थित होता है वही व्यक्ति की जन्म राशि कहलाती है, भविष्य कथन में बहुत से ज्योतिषी लग्न की बजाय इससे भी फलादेश करते हैं. आजीविका के संदर्भ में इस ग्रह की स्थिति भी काफी मायने रखती है. विशेषतौर पर अगर यह दसम भाव से किसी प्रकार सम्बन्धित है तो आजीविका के विषय में यह अधिक विचारणीय होता है क्योंकि दसम भाव आजीविका स्थान होता है और (It also influence the thoughts, cognitive capacity and sentiments of the native) यह मन का कारक होने के साथ ही साथ संवेदनाओं, विचारों एवं स्मरण क्षमता पर प्रभाव डालने वाला ग्रह होता है. अगर आप आजीविका में संभावनाओं की तलाश कर रहे हैं तो चन्द्र की स्थिति से आजीविका के चुनाव में आसानी हो सकती है.

आजीविका में चन्द्र से सम्बन्धित क्षेत्र (Fields Related to Moon)
आजीविका के विषय चन्द्र को सामाजिक कार्यों से जोड़ कर देखा जाता है. यही कारण है कि चन्द्र से सामाजिक संस्थाओं सहित सरकारी पक्ष में आजीविका का भी विचार किया जाता है. व्यवसायिक क्षेत्र में किराना दुकान, डीलरसिप, होटल, रेस्तरां एवं कैटरिंग का कार्य भी चन्द्र से सम्बन्धित होता है. खेती एवं डेयरी के कारोबार में सफलता के लिए भी चन्द्र की स्थिति काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है. (The position of Moon is also considered for farming and business of dairy, water related business, petroleum, oil or fuel , lead etc.) जल एवं जल क्षेत्र, पेट्रोलियम, तेल, सीसा, इन कारोबारों में चन्द्र की भूमिका महत्वपूर्ण मानी जाती है. धातु एवं रत्नों में चांदी व मोती के व्यापार में लाभदायक स्थिति का आंकलन चन्द्र की स्थिति से किया जाता है. अगर आपकी कुण्डली में चन्द्र शुभ है तथा दसम भाव से इसका सम्बन्ध बन रहा है तो वस्त्र उद्योग में भी किस्मत आजमाया जा सकता है.

चन्द्र व सूर्य से आजीविका (Relationship of Moon and Sun and Occupation)
दसम भाव से चन्द्र व सूर्य का शुभ सम्बन्ध होने से आप चाहें तो सरकारी नौकरी हेतु प्रयास कर सकते हैं. इस क्षेत्र में इन दोनों ग्रहों के सम्बन्ध से जहां भी कार्य करेंगे अपने विभाग के पदाधिकारी बन सकते हैं. (He will have high possibility to make his career in politics and his hard-work in this field will prove beneficial for him) राजनीति में भी अच्छी संभावना रहेगी ऐसे में, इस क्षेत्र में रूचि होने पर प्रयास किया जाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है.

चन्द्र व मंगल से आजीविका ( Relationship of Moon and Mars and Occupation)
(The relationship of these two planets form a very beneficial Yoga in the birth-chart of a person) इन दोनों के सम्बन्ध से चन्द्र मंगल योग बनाता है. दसम भाव से इनका सम्बन्ध होने से आटो मोबाईल, हैवी इंजीनियरिंग एवं चिकित्सा को आजीविका के तौर पर अपनाना फायदेमंद होता है.

चन्द्र व बुध से आजीविका (Relationship of Moon and Mercury and Occupation)
चन्द्र और बुध दोनों ही शुभ ग्रह माने जाते हैं. इन दोनों ग्रहों का दसम भाव से सम्बन्ध होने से आजीविका के क्षेत्र में उत्तमता का संकेत मिलता है. (If these two planets are auspicious then you can find your career in the field of arts) अगर आपकी कुण्डली में ये दोनों ग्रह शुभ हैं तो आप कला के क्षेत्र में अपनी आजीविका की तलाश कर सकते हैं. लेखन में भी आपको अच्छी ख्याति व धन मिलने की संभावना रहेगी अत: इस क्षेत्र में रूचि होने से लेखन को अपनी आजीविका के तौर पर अपना सकते हैं. इन दोनों ग्रहों के प्रभाव से अकाउंट से सम्बन्धित काम भी आपके लिए तरक्की का रास्ता खोल सकता है.

चन्द्र व गुरू से आजीविका(Relationship of Moon and Jupiter and Occupation)
गुरू व चन्द्र का सम्बन्ध आजीविका स्थान से होने से कृषि सम्बन्धी कार्यों में सफलता मिलती है विशेषतौर पर गेहूं व चावल का काम फायदेमंद होता है. कवि के रूप में भी ख्याति मिलने की संभावना प्रबल रहती है अत: लेखन में भी अपने कलम को आजमाया जा सकता है. (If both these houses share a relationship the person will earn his livelihood in spiritual areas as priest or pastor) इन दोनों ग्रहों की स्थिति होने से धर्म से सम्बन्धित कार्यों से पुराहित, धर्मोपदेश का काम भी आजीविका के तौर पर अपनाया जा सकता है.

चन्द्र व शुक्र से आजीविका(Relationship of Moon and Venus and Occupation)
चन्द्र के साथ शुक्र का सम्बन्ध दसम भाव से होने से आप अपना करियर फैशन जगत में बना सकते हैं. (The business of perfumes, flowers, clothes and jewellery are good options for livelihood) पर्फ्युम का कारोबार, फूल का व्यवसाय, वस्त्र उद्योग एवं ज्वेलरी के का कारोबार आजीविका के तौर पर अपना सकते हैं.

चन्द्र व शनि से आजीविका (Relationship of Moon and Saturn and Occupation)
इन दोनों ग्रहों का सम्बन्ध इस बात को दर्शाता है कि जिन क्षेत्रों में मजदूरों की अधिक जरूरत होती है उन क्षेत्रों में अगर आजीविका की तलाश करेंगे तो काफी सफल होंगे.

चन्द्र व राहु से आजीविका(Relationship of Moon and Rahu and Occupation)
आजीविका स्थान यानी दसम भाव से चन्द्र राहु का सम्बन्ध होने से आजीविका के तौर पर विद्युत सम्बन्धी कार्यों को अपनाया जा सकता है. (The astrology and business in share market are also beneficial for him) शेयर बाज़ार का काम, ज्योतिष से सम्बन्धित कार्य भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है. नौकरी में स्टोर से जुड़ा कार्य भी आपको तरक्की दिला सकता है.

चन्द्र व केतु से आजीविका (Relationship of Moon and Ketu and Occupation)
कुण्डली में चन्द्र व केतु का सम्बन्ध दसम भाव से बन रहा है तो (the person will earn his livelihood as druggist or chemist or through work which is related with the department of chemistry) आजीविका के तौर पर दवाईयों का कारोबार, रसायन विभाग से जुड़ा काम करना फायदेमंद हो सकता है. आप चाहें तो शिक्षा प्राप्त कर वैज्ञानिक बन सकते हैं. अपना व्यवसाय करना चाहते हैं तो किराना स्टोर खोल सकते हैं.
Article Categories: Career and Profession
Article Tags: moon

bottom
Free Vedic Jyotish

Free Reports

Free Vedic Astrology

All content on this site is copyrighted.


Do not copy any content without permission. Violations will attract strict legal penalties.