शुक्र अपनी स्वराशि वृष से निकल कर मिथुन राशि की ओर संचार करेंगे. शुक्र अपनी स्वराशि को त्यागकर बुध की राशि मिथुन में जाएंगे. शुक्र का बुध की राशि में जाना अनुकूल स्थिति की ओर इशारा करता है. शुक्र ओर बुध का संबम्ध मित्रता से युक्त माना गया है. इस लिए जब भी शुक्र मिथुन राशि में जाता है तो उस समय का दौर कलात्मकता को बढ़ाने वाला होता है. बौद्धिकता प्रखर होती है. इस समय पर ऎसी चीजों को बढ़ावा मिलने की संभावना बढ़ जाती है जिसमें व्यक्ति की योगता सामने आती है. ये समय सामाजिक सांस्कृतिऔर राजनितिक क्षेत्र में बदलाव को दिखाता है.

शुक्र का मिथुन राशि प्रवेश समय

1 अगस्त 2020 को शनिवार के दिन प्रात:कल समय होगा. शनिवार को 5:09 पर शुक्र अपनी स्वराशि शुक्र से बाहर आकर मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे. पूरा 1 माह शुक्र मिथुन राशि में ही गोचरस्थ होंगे.

आईये जानते हैं, कैसा होगा 12 राशियों पर इसका असर

मेष राशि

शुक्र का मिथुन राशि में गोचर मेष राशि वालों के लिए उनके तीसरे भाव पर होने जा रहा है. यह स्थिति तृतीय पराक्रम भाव में होने से अपनी मेहनत को ऎसी जगह पर लागाना अधिक पसंद करेंगे जिसमें आपकी कौशलता को प्रदर्शित करने का मौका मिले. आप अपने आलस्य को यदि छोड़ देंगे तो आप अच्छे लाभ को पाने में सफल भी हो सकते हैं. इस समय आपके अपने भाई बहनों कि ओर से काम में कुछ सहयोग मिल सकता है. मेहनत के द्वारा लाभ होगा. रोज के कामों में भी सफलता मिलेगी. इस समय आप अपने पसंद की चीजों को लेकर आगे बढ़ना चाहेंगे.

वृष राशि

वृषभ राशि वालों के लिए शुक्र अब शुक्र पहले घर से निकल कर दूसरे घर में गोचर करेंगे. दूसरे भाव से भ्रमण करते हुए शुक्र आपकी आर्थिक स्थिति को बेहतर करने में सहायक बनेंगे. आप अपने परिवार को नजदीक लाने की कोशिशों में आगे बढ़ेंगे. छात्रों को अपनी पढ़ाई के क्षेत्र में मेहनत अधिक करने की जरूरत होगी. इस समय एकाग्रता में कमी आ सकती है. मन में भटकाव की स्थिति अधिक रहने वाली है. अपनी भाषा और वाणी द्वारा धन का लाभ पा सकते हैं. परिवार पर धन खर्च होगा इसलिए अभी धन को इधार देने से बचें. धन के मामलों में सावधानी रखना होगी.

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों के लिए शुक्र लग्न में आने वाला है. आपके 12वें घर से निकल कर शुक्र अब आपके लग्न पर आएंगे. अभी तक आप खुद को लेकर कुछ लापरवाह रहे हों लेकिन अब अपने पर ध्यान देने लगेंगे. आप खुद के स्वास्थ्य और खुद कि इच्छा को लेकर अधिक एकाग्र होंगे. प्रेम संबंधों के लिए अब आप अपनी ओर से थोड़ा अधिक एफर्ट लगा सकते हैं. आपकी भावना प्रबल होगी. इस समय आपके खर्चों में वृद्धि का संकेत दिखाई देता है. ट्रैवलिंग के योग भी बन रहे हैं. इस योग के बनने से धन का व्यय भी होगा.

कर्क राशि

इस समय आपके लाभ पर खर्च की अधिकता का प्रभाव अधिक दिखाई देगा. कर्क राशि वालों के लिए 12वें भाव में गोचर का योग बनने के कारन आपकी भागदौड़ बढ़ सक्ती है. इस समय आपके मित्र आप के लिए शत्रुता का भाव भी दिखा सकते हैं. इनकम के साथ ही खर्च भी अधिक रहेगा. पारिवारिक मामलों में खर्च रहेगा. स्वास्थ्य का ख्याल रखें. इस समय रिश्तों की खिंचतान आपके लिए दिक्कत अधिक बन सकती है.

सिंह राशि

सिंह राशि वालों के लिए शुक्र का गोचर 11वें भाव में होगा. आपके लिए इस समय काम में मेहनत के साथ साथ अपनी कौशलता पर भी ध्यान देने की जरूरत होगी. कुछ चीजों में नया काम ओर नए लोगोम के साथ मुलाकात की संभावना बढ़ सकती है. एकादश भाव में गोचर करने के कारण शि़अ के क्षेत्र में जो लोग कला से संबंधित विषयों में लगे हुए उनके लिए अच्छे परिणाम की प्राप्ति हो सकती है. शुक्र का ये गोचर आपको अपनी मेहनत से काम दिलाने वाला होगा. बच्चों की ओर से आपको कुछ अच्छी बातें पता चल सकती हैं.

कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिए शुक्र का गोचर एक बदलावों को देने वाला होगा. इस समय आप अपने कुछ अधूरे किए हुए कामों को पूरा कर पाएंगे. नौकरी या व्यापार दोनों ही क्षेत्रों में आपकी मेहनत बढ़ सकती है. दशम भाव में गोचर करते हुए शुक्र आपने विरोधियों ओर अपने मित्रों दोनों को साथ ले चलने के लिए कोशिश को कर सकता है. आपको भाग्य का साथ आपको काम में मिल सकता है. आप अपने परिवार की ओर से कुछ बेहतर रुख देख पाएंगे. स्त्री पक्ष की ओर से कुछ लाभ हो सकता है. किसी भी ऎसे क्षेत्र में जहां बुद्धि और कौशल का योग प्रबल हो तो उस काम में आप बहुत अच्छा कर सकते हैं.

तुला राशि

तुला राशि वालों के लिए इस समय शुक्र का गोचर काम और प्रोजेक्ट से जुड़े नए मौके ला सकता है.मेहनत करने का समय है. इस राशि के छात्र अपनी पढ़ाई में उच्च शिक्षा को लेकर आगे बढ़ सकते हैं. नए प्रोजेक्ट और नए काम बनेंगे. बास की ओर से कुछ सहायता मिल सकती है. आपकी नॉलिज का विस्तार होगा. आप अपने स्वभाव द्वारा लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं. परिवार में माता की ओर से आपको प्रेम और सकारात्मक रुख हासिल होगा.इस समय आप प्यार के मामले में अपने रिश्तों को आगे बढ़ाने के लिए कोशिशों में लगे रहेंगे. वैवाहिक संबंधों को लेकर स्थिति कुछ नए अनुभवों को देने वाली होगी. इस समय आप किसी व्यक्ति के साथ भावनात्मक रुप से अधिक जुड़ाव का अनुभव कर सकते हैं. स्वास्थ्य का ख्याल रखें संक्रमण का खतरा भी हो सकता है. तुला राशि वालों के लिए तीसरे घर में शुक्र का होना मुश्किलों से आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है. कठिनाइयों से ही सफलता मिल सकती है.

वृश्चिक राशि

आप लोगों के लिए ये समय बहुत अधिक संभल कर आगे बढ़ने का होगा. इसका कारण वृश्चिक राशि वालों के लिए शुक्र का गोचर आठवें घर में होगा. इसलिए आपका मन उन चीजों की ओर ज्यादा रह सकता है जिसे आप हर किसी से छुपा कर रखना चाहते होंगे. इस समय पर बाहरी मासलों को सावधानी रखने की जरूरत होगी. कुछ बाहरी लोगों के कारण काम पूरा होने में अड़चने आ सकती है. ट्रैवलिंग में संभल कर आगे बढ़ना होगा. संपत्ति का लाभ मिल सकता है. प्रेम संबंधों में आप इस समय झूठ का सहारा भी ले सकते हैं. परिवार में मांगलिक कार्यों में भागीदारी होगी. अपने पेट का ख्याल रखें पानी से संबंधित रोग जल्दी ही असर डाल सकते हैं.

धनु राशि

धनु राशि वालों के लिए शुक्र अब सातवें घर में आने वाला है. इसलिए अपने विवाह ओर प्यार को लेकर आपको तालमेल बनाने की जरूरत होगि. इस समय आपके रिश्ते आगे बढ़ सकते हैं. जो दूरियां बनी थी वो अप दूर हो सकती है. आपको इस समय सहभागिता में काम से लाभ मिलने की बेहतर संभावना भी बनती दिखाई देती है. बस आवश्यकता होगी तो आपकी सजगता की स्वास्थ्य समस्याओं पर धन खर्च बढ़ सकता है. पारिवारिक जीवन में बदलाव आएंगे. कुछ निर्माण से जुड़े काम आगे बढ़ सकते हैं.

मकर राशि

इस समय मकर राशि वालों के लिए खर्च में वृद्धि का दौर रहने वाला समय होता है. काम कि अधिकता आपको परेशानी दे सकती है. थकान ओर विवाद का दौर आपको थोड़ा निराश भी कर सकता है. मकर राशि वालों के लिए छठे घर में गोचर होने के कारण आपका ध्यान किसी एक चीज पर अधिक हो सकता है. काम के क्षेत्र में संभलकर चलने की सलाह देता है ये समय. वरिष्ठ लोग कुछ लाभ के मौके दे सकते हैं. बच्चों का ख्याल रखें उनकी गतिविधियों पर अपना ध्यान बना कर रखने कि जरूरत होगी.

कुंभ राशि

कुम्भ राशि वालों के लिए शुक्र का का गोचर उन्हें मानसिक रुप से परेशान कर सकता है. सोच पर कई चीजों को लेकर बंटी हो सकती है. इस समय आप अपने रिश्तों को लेकर भी काफी उलझन में होंगे. प्यार के मामले में आप थोड़ी जल्दबाजी भी कर सकते हैं. कुंभ राशि वालों के लिए पंचम स्थान पर शुक्र का असर होने के कारण, बच्चों का सुख देने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका रह सकती है. संतान सुख, मनोरंजन पर खर्च, घर पर कुछ शुभ कार्य, भाग्य का सहयोग मिलना जैसी चीजों का होना दिखाई देता है.

मीन राशि

मीन राशि के लिए शुक्र का गोचर घर पर अनेक बदलावों ओर कुछ नए लोगों के साथ को सामने लाने वाला होगा. आपके सुख स्थान पर शुक्र का आना भावनाओं को बढ़ाने का काम करेगा. अभी तक जिन चीजों के लिए आप रुके हुए थे या फिर जिन पर आप अपनी इच्छाओं को दबा रहे थे वे अब एक बार फिर से उभर सकती हैं. आप अपने बच्चों और अपने घर पर कुछ बदलावों को देख सकते हैं. आपके किसी अपने का स्वास्थ कुछ कमजोर हो सकता है. लिए चतुर्थ भाव में शुक्र का गोचर आपके लिए खर्च बढा़ सकता है.

शुक्र के उपाय

  • मिथुन राशि में शुक्र का गोचर होने पर कुछ उपाय करना अत्यंत ही लाभदायी होता है. ग्रह जिस समय पर राशि परिवर्तन करता है उस समय पर ग्रह से संबंधित पूजा अर्चना एवं मंत्र जाप करना अत्यंत ही सकारात्मक फल प्रदान करने वाला होता है.
  • इस समय शुक्र के गोचर की अशुभता में कमी लाने और उससे बचाव के लिए व्यक्ति को चाहिए की वह साफ स्वच्छता के साथ सफेद वस्त्र पहन कर शुक्र के मंत्र जाप अवश्य किया करे. स्नान करने के लिए पानी में दूध और इलायची डाल कर स्नान करने से शुक्र कि शुभता प्राप्त होती है. शुक्रवार के दिन किसी धर्म स्थल पर दूध से बनी खीर गरीबों को दान करने से शुभ फलों की प्राप्ति संभव हो पाती है.