मंगल एक उग्र व अग्नि युक्त ग्रह हैं. सभी ग्रहों में से मंगल को ही ऎसे कार्यों का सौंपा जाता है जिनमें शक्ति और साहस का परिचय दिया जा सके. यह एक यौद्धा की भांति है जिसमेम अदम्य साहस है विपत्तियों से लड़ने का. मंगल ग्रह को एक अग्नि तत्व ग्रह का स्थान प्राप्त है.

मंगल की दो राशियां हैं. मंगल की एक राशि मेष है और दूसरी वृश्चिक राशि है. ऎसे में मंगल जब भी अपने भ्रमण काल में जिस भी किसी राशि में जाता है तो उस समय को किसी न किसी कारण से विशिष्ट माना जाता है.मंगल का अपनी मंगल का प्रभव क्षेत्र तब अधिक बढ़ जाता है जब वह अपने क्षेत्र में होता है.

मंगल का मेष राशि जाने का समय

मंगल 16 अगस्त 2020 को शनिवार के दिन मेष राशि में प्रवेश करेंगे. मंगल का मेष राशि में प्रवेश का समय कुछ भिन्न-भिन्न गणना आधार के कारण थोड़ा सा अलग भी हो सकता है. मंगल ग्रह शाम के समय 18:31 मिनिट पर मीन से निकल कर मेष राशि में जाएंगे.

मंगल के राशि परिवर्तन का समय

  • मंगल 16 अगस्त 2020 को मेष राशि में प्रवेश करेंगे.
  • 10 सितंबर 2020 को मंगल मेष राशि में वक्री होंगे.
  • 4 अक्टूबर 2020 को मीन राशि में जाएंगे.
  • 14 नवम्बर 2020 को मीन राशि में ही गोचर करते हुए मार्गी होंगे.
  • 24 दिसंबर 2020 को एक बार फिर मेष में गोचर करेंगे.
  • इस तरह से मंगल कई बार अपनी स्थिति में परिवर्तन करेंगे. इनकी चाल में प्रभाव बदलेगा और इनका गोचर भी बदलेगा. इन सभी में मुख्य बात ये होगी की मंगल इस समय दो राशियों के मध्य ही बदलाव को कर पाएगा. ऎसे में इन दोनों में ही इसका बदलाव बहुत सारे उतार-चढ़ाव देने वाला भी अवश्य होगा.

    मंगल अश्विनी नक्षत्र में प्रवेश

    मंगल का मेष राशि में जाना इस समय मंगल के नक्षत्र परिवर्तन को भी दर्शाएगा. मंगल इस समय अश्विनी नक्षत्र में गोचर करेंगे. अश्विनी नक्षत्र केतु की अधिपत्य का नक्षत्र है. ऎसे में मंगल इस समय केतु के प्रभाव क्षेत्र में भी होगा. इस लिए स्थिति बहुत मजबूती से दिखाई देगा.

    ज्योतिष में सभी नक्षत्रों का एक विशेष स्थान है. नक्षत्र गणना में महत्वपूर्ण माने जाने वाले स्भी नक्षत्रों में से अश्विनी को प्रथम नक्षत्र बताया गया है. अश्विनी नक्षत्र एक विलक्षण नक्षत्र है. इस नक्षत्र को अश्विनी कुमारों से जोड़ा गया है. अश्विनी कुमार सूर्य से संबंध रखते हैं क्योंकि इन्हें सूर्य की संतान कहा गया है. इस कारण से मंगल मे इस नक्षत्र के साथ होने से स्वास्थ्य के क्षेत्र में और क्मा के क्षेत्र में तेजी और अस्थिरता भी दिखाई देगी.

    मंगल का का गोचर अश्विनी नक्षत्र में होने की स्थिति के प्रभाव से इस समय उन राशि के लोगों पर इसका अधिक प्रभाव दिखाई देगा जो इस नक्षत्र में जन्मे हैं. व्यक्ति अपने जीवन में बहुत से विलक्षण कार्य कर सकने योग्य बन सकता है. अश्व के मुख वाले इस अश्विनी नक्षत्र का प्रतीक चिह्न अश्व ही माना गया है. इस लिए इस नक्षत्र को घोड़े के बहुत से गुणों से जोड़ कर भी देखा गया है. इस नक्षत्र के प्रभाव से व्यक्ति को यात्राओं पर जाने का योग भी प्राप्त होता है. एक बेहतर और लम्बी दूरी तय करने वाले लोगों को अपने काम में परिश्रम और थकान दोनो ही बातें प्रभाव डालेंगी.

    मंगल का मेष राशि में गोचर का सभी राशियों पर असर

    मेष राशि

    मेष राशि वालों के लिए समय बहुत निर्णायक भूमिका वाला होगा. इस समय आपको उत्साह मिलेगा. आप अपने कामों को जोश के साथ आगे बढ़ा सकते हैं.

    वृषभ राशि

    वृषभ राशि वालों को खर्चों को लेकर परेशानी अधिक रह सकती है. आपके लिए इस समय काम का दबाव अधिक रह सकता है. आपके पास नए संपर्क भी बनेंगे जो आपके लिए आगे बढ़ने में सहायक बनेंगे. स्वास्थ्य के प्रति सजग रहना भी जरुरी होगा.

    मिथुन राशि

    आप अपनी कोशिशों से आर्थिक लाभ को पा सकते हैं. आपके पुराने किए हुए कामों का कुछ लाभ अब आपको शायद मिल पाए. आपके लिए बेहतर होगा कि आप अपनी बचत का ख्याल रखें.

    कर्क राशि

    कर्क राशि वालों के लिए ये समय अपने परिवार की जिम्मेदारियों को लेकर अधिक सक्रिय करने वाला है. इस गोचर काल में आपको कुछ बेहतर अवसर मिलेंगे.

    सिंह राशि

    आपको कुछ नए अवसरों की प्राप्ति होनी की उम्मीद बंधती दिखाई देती है. पिता की ओर से बेहतर मार्गदर्शन मिल सकता है. आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी लेकिन अपने खर्चों पर कंट्रोल करने की बहुत जरूरत होगी. अपने स्वास्थ्य के कारण आपको कुछ दिक्कत हो सकती है.

    कन्या राशि

    काम को लेकर दूसरों के द्वारा आप को परेशानी अधिक बढ़ सकती है. मनोकूल काम न बन पाए. परिवार की ओर से आपको कहीं ट्रैवलिंग पर जाने के मौके भी मिल सकते हैं.

    तुला राशि

    कार्य क्षेत्र में अधिकारियों का सहयोग सही से न मिल पाए. पर धीरे धीरे आप की ओर उनका ध्यान जरुर बढ़ेगा. प्यार को लेकर आप कुछ चुनौतियां देख सकते हैं. आपके लिए जरूरी है कि अपने बोल चाल पर ध्यान रखें.

    वृश्चिक राशि

    आपके लिए ये समय काम के क्षेत्र में सफलता देने वाला बन सकता है. इस समय आप अपने काम में बेहतर करने की प्रतिभा दूसरों को दिखा सकते हैं. मित्रों का सहयोग आपको सकारात्मक रुख दे सकता है.

    धनु राशि

    आप अपनी मेहनत में बहुत बेहतर होंगे. आपके लिए जरुरी है कि आप अपने गुस्से को अधिक न बढ़ने दीजिये. पैसों को लेकर भी आप काफी जोड़ तोड़ करने वाले हैं.

    मकर राशि

    मतभेदों को किसी भी कारण से बढ़ने से रोकना होगा. आप अपनी स्वतंत्रता को सही से उपयोग में नही ला पाएं. आप कुछ बेहतर कर पाने के लिए खुद की मेहनत से अधिक दूसरों की निर्भरता से बचते हैं तो वो आपके लिए अच्छा होगा.

    कुम्भ राशि

    बदलावों से सम्भल कर रहने की जरूरत होगी. आपको अधिकारों और कर्तव्यों के साथ-साथ तालमेल बिठाने की जरूरत होगी. आर्थिक क्षेत्र में वृद्धि के बेहतर योग भी दिखाई देंगे.

    मीन राशि

    आर्थिक मसले सुधार को पाएंगे, ट्रैवलिंग का दौर होंगे. पर संभल कर अपनी यात्राओं को करें. भाईयों कि ओर से तनाव बढ़ सकता है. वेतन में भी वृद्धि देखने को मिलेगी. आपका आपके कार्यालय में दबदबा रहेगा और आपके अधिकार बढ़ेंगे, जिससे आपके साथ काम करने वाले कुछ लोग आपके विरुद्ध षड्यंत्र रच सकते हैं.