Articles in Category Lal Kitab Remedies

लाल किताब में बृहस्पति का उपाय

लाल किताब में फलादेश और उपायों का आधार शुभ एवं अशुभ ग्रहों को माना जाता जाता है. जो ग्रह कुण्डली में उच्च राशि में स्थिति हो स्वराशि में हो, मित्र राशि में हो शुभ ग्रहों से दृष्ट हो तो बेहतर फलों की

कमजोर ग्रह के उपाय | Remedies for weak planets

लाल किताब में कमजोर ग्रह होने के बहुत से कारण हो सकते हैं जिसके प्रभाव से ग्रह का बल कमजोर हो जाता है और ग्रह शुभ फल देने में सक्षम नहीं हो पाता है. लाल किताब कुण्डली में ग्रह कई प्रकार से कमजोर या

लाल किताब कुण्डली के दूसरे घर में राहु का बृहस्पति, शुक्र, शनि के साथ संबंध | Relation Of Rahu with Jupiter, Venus and Saturn In The Second House Of Lal Kitab

बृहस्पति और राहु | Rahu And Jupiter लाल किताब कुण्डली के दूसरे घर में राहु के साथ बृहस्पति के स्थित होने पर राहु, बृहस्पति के अधीन हो जाता है. इस घर में बृहस्पति की ही चलती है क्योंकि एक ओर तो यह

लाल किताब का खाना नम्बर 4 | Fourth House in Lal Kitab

लाल किताब कुण्डली के चौथे घर को माता का घर कहा जाता है. इसका स्वामी और कारक ग्रह चंद्रमा है और इस घर को केन्द्र स्थानों में से एक माना जाता है. लाल किताब में इस केन्द्र स्थानों को बंद मुट्ठी का भाव