इक्कीस मुखी रुद्राक्ष | Ekees Mukhi Rudraksha | 21 Mukhi Rudraksha

इक्कीस मुखी रूद्राक्ष भगवान कुबेर को दर्शाता है जो धन-संपदा के स्वामी हैं, इसके अतिरिक्त यह रुद्राक्ष  भगवान शिव का प्रतिनिधित्व भी करता है. 21 मुखी रुद्राक्ष सभी रुद्राक्षों में एक बेहतरीन रुद्राक्ष है. भगवान ब्रह्मा, विष्णु, महेश और अन्य सभी देवी देवता इस रूद्राक्ष में निवास करते हैं. प्राचीन शास्त्रों के अनुसार, जब इक्कीस मुखी रुद्राक्ष को पूजा के स्थान में रखा गया तब समस्त देवताओं ने स्वयं को इसके चारों ओर स्थापित किया.

इसे घर में रखने से शांति एवं सदभाव का वातावरण उत्पन्न होता है तथा यह रुद्राक्ष अपार समृद्धि लेकर आता है. माना जाता है कि इस रूद्राक्ष को धारण करने से ब्रह्म हत्या गौ हत्या और ब्राह्मण हत्या जैसे पापों से मुक्ति प्राप्त हो जाती है. इसे पहनने से आध्यात्मिक ज्ञान बढ़ता है और व्यक्ति "सनातन धर्म" की राह पर चलता है.

इक्कीस मुखी रुद्राक्ष लाभ | Benefits of Ekees Mukhi Rudraksha

भगवान कुबेर का स्वरूप यह रुद्राक्ष धन धान्य की कमी को दूर करता है. इसे धारण करने से निर्धन भी धनवान हो जाता है, अलख निरंजन रुप में यह रुद्राक्ष व्यक्ति को भक्ति के रस में लीन कर देता है . इसे रुद्राक्ष को अपनाकर मनुष्य त्रिदेवों के साथ अन्य देवों का आशीर्वाद भी पाता है.

इस रूद्राक्ष को पहनने वाला विशाल संपत्ति के साथ ही साथ सांसारिक सुखों का लाभ भी उठाता है व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती हैं भाग्यशाली बन जीवन का आनंद लेता है. 21 मुखी रुद्राक्ष जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता दिलाता है.

इक्कीस मुखी रुद्राक्ष से स्वास्थ्य लाभ | Health Benefits of Ekees Mukhi Rudraksha

प्राचीन वैदिक ग्रंथों के अनुसार इक्कीस मुखी रुद्राक्ष सकारात्मक उर्जा का संचार करता है. यह स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करता है. जागरूकता बढ़ाता है, मानसिक परेशानियों को दूर करता है यह रूद्राक्ष तीसरा नेत्र चक्र है, यह आज्ञा चक्र कुंडलिनी को जागृत करने में भी सहायक होता है इसे धारण करने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है.  यह रुद्राक्ष भी तंत्र मंत्र तथा अन्य बुरी शक्तियों से बचाव करने में उपयोगी है.

इक्कीस मुखी रुद्राक्ष मंत्र | Ekees Mukhi Rudraksha Mantra

‘ॐ नमः शिवाय’ इस मंत्र का जाप करते हुए इस रुद्राक्ष को धारण करें. इस रुद्राक्ष को मंत्र द्वारा अभिमंत्रित करके शुद्ध एवं पवित्र मन के साथ पहनना चाहिए. 21 मुखी रूद्राक्ष सोमवार को सोने चांदी या लाल धागे में पिरोकर धारण किया जा सकता है. यह रूद्राक्ष उन लोगों के लिए बहुत लाभदायक है जो जीवन में अनेक उचाईयों  को छूना चाहते हैं.   वरिष्ठ अधिकारियों, बड़े व्यापारी, राजनेता बनने की चाह रखने वालों को या बहुराष्ट्रीय कंपनियों, सिने अभिनेता, निर्माता और निदेशकों को इसे धारण करना चाहिए.

Categories: