नौ मुखी रुद्राक्ष और दस मुखी रुद्राक्ष | Nau Mukhi and Dus Mukhi Rudraksha Rudraksha

नौ मुखी रुद्राक्ष नवशक्ति संपन्न नवदुर्गा का प्रति‍‍निधि है. इसे भैरव का स्वरूप माना जाता है. यह रुद्राक्ष माँ दुर्गा के स्वामित्व में उनकी नौ शक्तियों को अपने में समाहित किए हुए है. इस रुद्राक्ष को धारण करने से शक्ति का आशीर्वाद एवं सानिध्य प्राप्त होता है. व्यक्ति में सहनशीलता, वीरता, साहस तथा शक्ति की वृद्धि होती है. नौ मुखी रुद्राक्ष को नवग्रहों तथा नवनाथों एवं नवधा भक्ति से परिपूर्ण माना गया है. नौ मुखी रुद्राक्ष शक्ति व भैरव का स्वरूप माना गया है इस कारण अनेक प्रकार की साधनाओं में सफलता के लिए इसे उत्तम माना जाता है. इसका उपयोग करने से सहनशीलता एवं साहस में वृद्धि होती है.

नौ मुखी रुद्राक्ष के लाभ | Benefits of Nau Mukhi Rudraksha

नौ मुखी रुद्राक्ष अदभुत शक्तियाँ तथा सुख-शांति प्रदान करने वाला होता है. इसे उपयोग में लाने से व्यापार एवं व्यवसाय में वृद्धि होती है तथा शत्रुओं का नाश होता है. इसे पहनने से अकाल-मृत्यु का भय भी समाप्त होता है. नौ मुखी रुद्राक्ष का सत्तारुढ़ ग्रह केतु है अत: यह केतु के बुरे प्रभावों से मुक्त करता है. इसे उपयोग में लाने से व्यक्ति के भीतर शक्ति का संचार होता है, कर्मठता तथा आत्मविश्वास में इज़ाफा होता है. मन से किसी भी प्रकार के भर को दूर करता है तथा सभी प्रकार की चिंताओं से मुक्ति दिलाता है.

नौ मुखी रुद्राक्ष के स्वास्थ्य लाभ | Health benefits of Nau Mukhi Rudraksha

नौ मुखी रुद्राक्ष को धारण करने से या उपयोग में लाने से फेफड़ों से संबंधित समस्याओं,  आंखों में दर्द, त्वचा रोग, शरीर में दर्द इत्यादि से मुक्ति दिलाता है.

नौ मुखी रुद्राक्ष का मंत्र | Nau Mukhi Rudraksha Mantra

ॐ ह्रीम हूम नमः नव दुर्गायै नमः

नवममुखी रूद्राक्ष की मां दुर्गा स्वामिनी है. भैरव स्वरूप इस रूद्राक्ष का संचालक ग्रह केतु है. इसे "ॐ दुं दुर्गाय नम:" मंत्र का जप करते हुए धारण कर सकते हैं.

दस मुखी रुद्राक्ष | Dus Mukhi Rudraksha

दस मुखी रुद्राक्ष को भगवान विष्णु का स्वरूप माना जाता है. यह दसों दिशाएँ, दस दिक्पालों का प्रतीक है. इसके सत्तारुढ़ ग्रह नव-ग्रह हैं. मान्यता है कि इस रुद्राक्ष में भगवान विष्णु के दस अवतारों की शक्तियां समाई हुई हैं. इस दशममुखी रुद्राक्ष को उपयोग में लाने से व्यक्ति समाज में सम्मान और कीर्ति प्राप्त करता है. इसे धारण करने से व्यक्ति के सभी भय का नाश होता है तथा उसे सुख एवं सम्पत्ति की प्राप्ति होती है.

दस मुखी रुद्राक्ष के लाभ | Benefits of Dus Mukhi Rudraksha

धन, प्रतिष्ठा को देने वाला यह दशम मुखी रुद्राक्ष व्यक्ति की सभी कामनाएँ पूर्ण करता है. यह वि‍घ्न-बाधाओं को दूर करके समस्त विपत्तियों का नाश करता है. दस मुखी रुद्राक्ष तंत्र- मंत्र के बूरे प्रभावों से मुक्त करता है इसे धारण करने से धारक को दिव्य शक्तियां प्राप्त होती हैं. व्यक्ति भूत , पिशाच जैसी बूरी बाधाओं से मुक्त रहता है.

दस मुखी रूद्राक्ष के स्वामी दशावतारी विष्णु भगवान हैं सभी प्रकार के दोषों को नष्ट करने वाले हैं. इस रूद्राक्ष की पूजा करने से गृह शांति प्राप्त होती है.राजकीय कार्यो में सफलता मिलती है राजनैतिक क्षेत्र में प्रतिष्टा मिलती है.

दशममुखी रुद्राक्ष दुर्लभ किस्म का रुद्राक्ष है इसके प्रभाव की वजह से कष्ट समाप्त होते हैं किसी भी तरह का काला जादू और बुरी नज़र दूर रहती है. यह बहुत शक्तिशाली माना जाता है यह रूद्राक्ष दिशात्मक दोष को भी दूर करने में सहायक है. अदालती मामलों, मुकदमों एवं विवादों को सुलझाने में बहुत लाभदायक है.

दस मुखी रुद्राक्ष का मंत्र

इस दशम मुखी रुद्राक्ष को रविवार के दिन "ॐ नमो भगवते वासुदेवाय" मंत्र का जप करते हुए गले या बाजू में धारण करना चाहिए.  ‘श्री नारायणाये श्री विष्णवे नमः’, ‘ॐ ह्रीम नमः नमः’

दस मुखी रुद्राक्ष स्वास्थ्य लाभ | Health Benefits of Dus Mukhi Rudraksha

दस मुखी को धारण करने से सर्व कार्य सिद्ध हो जाते हैं. दिमागी रोग , चिंता का नाश करता है, संतान प्राप्ति में सहायक होता है.

Categories: