Customised Vedic Jyotish Reports

Premium Reports

Vedic Astrology Reports

राशिफल कर्क राशि मार्च 2017 - Hindi Rashifal for Karka Rashi for March 2017

Monthly Horoscope for Cancer March 2017

कर्क राशि के लिए मार्च 2017

इस माह आपको कुछ नए खर्चों के चलते अन्य कार्यों में पैसों की कटोती करनी पड़ सकती है. खर्च अधिक रह सकते हैं. कुछ धन व्यर्थ भी हो सकता है, या आप ऎसी जगह पैसा फंसा सकते हैं जहां से रिटर्न की उम्मीद कम ही मिलती दिखाई दे. पैतृक संपत्ति से जु़ए विवाद लम्बे खिंच सकते हैं.

परिवार में किसी सदस्य का नई नौकरी प्राप्त करना आपको थोड़ी राहत दिलाने वाला होगा. संतान की ओर से भी आर्थिक स्थिति को सुधारने में मदद मिल सकती है. घरेलू काम काज में विस्तार होगा और स्वयं के लिए समय न मिल पाने से आप थोड़े असंतुष्ट भी रहेंगे.

कर्क राशि के लिए मार्च 2017 में कैरियर

कार्यक्षेत्र में सहयोगियों का साथ मिलेगा, लेकिन थोड़ा ध्यान से कार्य करे क्योंकि दोस्ती की आड़ में विरोधी आपका फायदा उठा सकते हैं. अधिकारियों के द्वारा आपको काम के लिए यात्रा पर भी भेजा सकता है. ऐसे में आप अधिक व्यस्त रह सकते हैं.

कारोबार में आपको परिवार का सहयोग मिले लेकिन अधिकांश समय आप पर दबाव ही रहेगा. अच्छे प्रदर्शन के लिए आपको अभी से ही मेहनत करनी होगी और नई चीजों को शामिल भी करना होगा तभी आप प्रतियोगिताओं में टिक पाएंगे.

कर्क राशि के विद्यार्थियों के लिए मार्च 2017

शिक्षार्थियों के लिए यह समय प्रतियोगी परिक्षाओं में भाग लेने का रहेगा. आप इस दौरान नकल और शार्टकट जैसे कामों में न पड़ें तो बेहतर होगा क्योंकि पकड़े जाने की प्रबल संभावना है. उचित प्रकार से की गई पढ़ाई में परिणाम आशाजनक रह सकते हैं.

कर्क राशि के लिए मार्च 2017 में स्वास्थ्य

इस माह स्वास्थ्य में कमी रहेगी, पेट संबंधी विकार होने से आपको गैस या एसिडिटी की समस्या रहेगी. गुप्त रोगों के बढ़ने की संभावना है. आपको इस दौरान कुछ प्राकृतिक चिकित्सा का सहारा लेना चाहिए इससे सेहत पर बुरा प्रभाव भी नहीं पड़ेगा. योग जैसी क्रियाएं आपको चिन्ता मुक्त रखने में सफल हो सकती हैं.

कर्क राशि के लिए मार्च 2017 में परिवार

उतार चढा़व रह सकते हैं, इस समय आपके गुप्त संबंध परेशानी का सबब बन सकते हैं. ग्रहस्थ जीवन में सुख की कमी रह सकती है. कडवाहट व वाद-विवाद हो सकते है.

विवाहेत्तर संबन्धों से बचना आपके दाम्पत्य जीवन के लिये हितकारी रहेगा. नये मित्र बनने के योग बन रहे है और दोस्तों के साथ घूमने फिरने के लिए जा सकते हैं. आपको पिता की नाराज़गी का सामना करना पड सकता है. माता के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखे.

कर्क राशि के लिए मार्च 2017 में उपाय

प्रात:काल हवन करें और गायत्री मंत्रों का जाप करें.

मार्च माह के मुख्य व्रत तथा त्यौहार

  • 2 मार्च 2016, दिन बृहस्पतिवार, अविघ्नकर व्रत, गण्डमूल 25:41
  • 3 मार्च 2016, दिन शुक्रवार, याज्ञवल्क्य जयंती
  • 5 मार्च 2016, दिन रविवार, होलाष्टक प्रारंभ, अन्नपूर्णा अष्टमी
  • 8 मार्च 2016, दिन बुधवार, आमलकी एकादशी
  • 9 मार्च 2016, दिन बृहस्पतिवार, गोविंद द्वादशी
  • 12 मार्च 2016, दिन रविवार, फाल्गुन पूर्णिमा, होलिका दहन, होलाष्टक समाप्त, होली पर्व, श्री चैतन्य महाप्रभु जयंती
  • 13 मार्च 2016, दिन सोमवार, वसन्तोत्सव, होला मेला, श्रीआनंदपुर व पोंटा साहिब, होली
  • 14 मार्च 2016, दिन मंगलवार, चैत्र संक्रान्ति, संत तुकाराम जयंती
  • 16 मार्च 2016, दिन बृहस्पतिवार, श्री गणेश चतुर्थी व्रत, श्री भगवान्नारायण जयंती
  • 17 मार्च 2016, दिन शुक्रवार,श्री रंग पंचमी, मेला नवचंडी मेरठ प्रारंभ
  • 19 मार्च 2016, दिन रविवार, शीतला सप्तमी
  • 20 मार्च 2016, दिन सोमवार, शीतला पूजन, महाविषुव दिवस
  • 21 मार्च 2016, दिन मंगलवार, शीतलाष्टमी, गण्डमूल 1:51 तक
  • 24 मार्च 2016, दिन शुक्रवार, पापमोचनी एकादशी
  • 27 मार्च 2016, दिन सोमवार, अमावस पितृकार्येषु, मेला पृथूदव - पिहोवातीर्थ (हरियाणा)
  • 28 मार्च 2016, दिन मंगलवार, चैत्र भौमवती अमावस, प्रतिपदा तिथि क्षय, चैत्र माह के वासंत नवरात्रे आरंभ, घट स्थापना, ध्वजारोहण, गण्डमूल
  • 30 मार्च 2016, दिन बृहस्पतिवार, गणगौरी तृतीया, श्रीमत्स्य जयंती

मार्च माह में ग्रहों की स्थिति

  • माह मध्य भाग तक सूर्य कुम्भ राशि में गोचर करेंगे. उसके पश्चात 14 मार्च 2017 में 17:33 पर मीन राशि में प्रवेश करेंगे.
  • मंगल पूरे माह मेष राशि में गोचरस्थ रहेंगे.
  • बुध ग्रह माह के पहले सप्ताह के दौरान कुम्भ में गोचरस्थ होंगे उसके पश्चात 10 मार्च को 26:36 मिनिट पर मीन राशि में प्रवेश करेंगे. उसके बाद 27 मार्च को 07:38 मिनिट पर मेष राशि में प्रवेश करेंगे और वहीं गोचरस्थ होंगे.
  • शुक्र 4 मार्च 2017 को 14:38 पर मीन राशि में ही वक्री होकर गोचर करेंगे.
  • बृहस्पति ग्रह कन्या राशि में वक्री होकर गोचरस्थ होंगे.
  • शनि धनु राशि में ही गोचर करेंगे.
  • राहु सिंह राशि में गोचरस्थ रहेंगे.
  • केतु कुम्भ राशि में गोचरस्थ रहेंगे.

Comment(s) on this article


There no comments yet. Be the first to leave one.

Leave Your Comment


Name
Email
Website
Comment
Free Vedic Jyotish

Free Reports

Free Vedic Astrology

All content on this site is copyrighted.


Do not copy any content without permission. Violations will attract strict legal penalties.