कमजोर ग्रह के उपाय | Remedies for weak planets

लाल किताब कुंडली में कमजोर ग्रहों के कारण उचित फलों का मिल पाना कठिन होता है. ऐसे में कमजोर ग्रह को बलवान बनाने के लिए बहुत से उपाय दिए गए होते हैं. ग्रह को ताकत देने के लिए जो उपाय हैं उन्हें करने पर व्यक्ति को लाल किताब कुंडली में बहुत से सकारात्मक फलों की प्राप्ति होती है.

लाल किताब में रत्न का उपाय

लाल कितब कुण्डली में ग्रह को बलवान बनाने के लिए रत्न की सहायता ली जा सकती है. ज्योतिष की सलाह अनुसर धारण किए जाने वाले रत्न का स्वरूप उपाय में दिया होता है. कमजोर ग्रह के लिए बताए गए रत्न एवं उपरत्न को अंगूठी में, गले में हाथ में जैसे चाहें धारण कर सकते हैं. रत्न का स्पर्श व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करने वाला होता है. यही ऊर्जा शरीर में पहुंच कर ग्रह और फलों को प्रभावित होती है. इसके साथ ही इस बात पर ध्यान देने की आवश्यकता है कि जिस रत्न का उपयोग हम कर रहे हैं वह शुद्ध है, साथ ही वह जन्म कुण्डली के आधार पर भी रत्न अनुकूल हो. इन बातों को ध्यान में रखते हुए रत्न का उपयोग बहुत फायदेमंद होता है और ग्रह को भी मजबूती देता है.

यंत्र का उपयोग

लाल किताब कुण्डली में ग्रह के कमजोर होने पर उक्त ग्रह से संबंधित यंत्र का उपयोग भी बहुत उपयोगी उपाय होता है. यंत्र को बनाने के लिए शुभ समय और मुहूर्त समय पर इसे बनाया जा सकता है. यंत्र को भोज पत्र, तांबे, चांदी , स्वर्ण इत्यादि जिसमें भी बनाना चाहें बनवा सकते हैं. ऐसे में निर्मित यंत्र का नियमित रूप से पूजन शुभकारी होता है.

पूजा पाठ

ग्रहों को बली बनाने के लिए पूजा पाठ का नियमित रूप से किया जाना ग्रहों को मजबूत बनाने के लिए बहुत आवश्यक होता है. पूजा पाठ के साथ-साथ दान का भी बहुत महत्व बताया गया है. उक्त ग्रह की वस्तुओं का दान भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. पर इस दान के संबंधित मुख्य बात यह है कि दान का उपयोग किसी ज़रूरतमंद के पास ही जाए.

व्रत एवं उपवास

लाल किताब में व्रत एवं उपवास का उपाय भी बहुत लाभदायक माना जाता है. जो ग्रह कमजोर हो उस ग्रह के लिए व्रत एवं उपवास का विधान बताया गया है. ऐसे में उक्त ग्रह को बल भी प्राप्त होता है.

मंत्र जाप का उपाय

कुण्डली में कमजोर-निर्बल ग्रह का प्रभाव अनुकूल बनाने के लिए मंत्र जाप का उपाय भी बताया जाता है. यदि मंत्र जाप को एक निश्चित संख्या में किया जाए तो उसके सकारात्मक फल अवश्य प्राप्त होते हैं. ग्रह की शांन्ति और उसे बल देने के लिए यह उपाय भी बहुत उपयोगी माना जाता है.

यज्ञ-हवन

यहां ग्रह को बलवान बनाने के लिए हवन एवं यज्ञ का नित्य रुप से किया जाना बहुत फायदेमंद माना जाता है. इन आयोजनों द्वारा ग्रहों को बल मिलता है. इन उपायों को करने में एक निरंतरता बनी रहती है.

लाल किताब हेतु बहुत से उपायों का हमें उपयोग मिलता है जो ग्रहों को प्रबल करने में महत्वपूर्ण होता है. इन उपायों का उपयोग एवं सुझाव हेतु किसी योग्य ज्योतिष आचार्य की सलाह से करना चाहिए. जिससे की उक्त रूप से अनुकूल फलों की प्राप्ति हो सके.