2018 में वक्री गुरू का राशियों पर प्रभाव । Retrograde Jupiter's effect on Signs in 2018

इस वर्ष 9 मार्च 2018 को 10:15 पर बृहस्पति तुला राशि में वक्री होकर गोचर करेंगे. बृहस्पति का वक्री होना अचानक से होने वाले बदलावों और जीवन की परिस्थितियों में आने वाले उतार-चढा़वों को दर्शाने वाला होगा. ग्रह का वक्रत्व होना परिणामों को अधिक तेजी के साथ देने वाला होता है.

10 जुलाई 2018 को 22:32 पर बृहस्पति(गुरू) मार्गी होकर गोचरस्थ होंगे. इन लगभग 123 दिनों का गुरू का गोचर बारह राशियों पर प्रभाव डालेगा. इस समय के दौरान ही शनि और मंगल का एक राशि में युति संबंध गोचर भी हो रहा होगा. ऐसे में यह समय बहुत महत्वपूर्ण बनने वाला होगा.

वक्री गुरू का मेष राशि पर प्रभाव

इस समय मेष राशि के जातकों को को मानसिक और आर्थिक रूप से बदलाव प्रभावित करने वाले होंगे. अचानक से कुछ धन की प्राप्ति होगी लेकिन इसी के साथ ही कुछ ऎसे काम सामने होंगे जिन पर न चाहते हुए भी धन व्यय करना ही होगा. संबंधियों के साथ मतभेद हो सकते हैं.

वक्री गुरू का वृषभ राशि पर प्रभाव

आपके पुराने किस हुए निवेश इस समय आपको थोड़ी राहत देंगे. किसी पुराने रोग का प्रभाव आप को व्यथित कर देने वाला होगा. बच्चों की ओर से उपेक्षा का भाव दुखी करेगा.

वक्री गुरू का मिथुन राशि पर प्रभाव

इस समय आप बच्चों की शिक्षा को लेकर परेशान होंगे. प्रेम संबंधों को लेकर आप परेशान होंगे. रिश्तों में किसी दूसरे के आने से आप असुरक्षा का अनुभव भी करे सकते हैं.

वक्री गुरू का कर्क राशि पर प्रभाव

घर पर किसी काम को लेकर तोड़ फोड़ हो सकती है. संपत्ति को लेकर आप ख़रीद फरोख्त का मन बना सकते हैं. नए वाहन की खरीद भी इस समय हो सकती है. पर इन सभी के मध्य वाद विवाद ओर सुख की कमी परेशान करेगी.

वक्री गुरू का सिंह राशि पर प्रभाव

परिवार में भाई बहनों के साथ वाद विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है. इस समय आपको अचानक से कही जाना पड़ सकता है.ऎसे में यात्रा में परेशानी का अनुभव भी होगा. खेल कूद में आपको भाग लेने को मिलेगा जिसमें आप बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे.

वक्री गुरू का कन्या राशि पर प्रभाव

इस समय धन खर्च होगा, पैतृक संपत्ति को लेकर तनाव की स्थिति रहेगी. बैंक से लोन लेने के लिए आप अभी आवेदन का सोच सकते हैं. लेकिन अभी आपको इस समय कोई सकारात्मक परिणाम न मिल सकें. पर किसी मित्र द्वारा मदद की सहायता हो सकती है.

वक्री गुरू का तुला राशि पर प्रभाव

यहां आप मानसिक रूप से काफी परेशान होंगे. आपके छोटे छोटे काम पूरा होने में समय लेंगे. स्वय के स्वास्थ्य में कमी के चलते भी आप कुछ निराशा का अनुभव करेंगे.

वक्री गुरू का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक राशि वालों के लिए वक्री गुरु का आर्थिक और मानसिक उथल पुथल देने वाला होगा. किसी बाहरी व्यक्ति के द्वारा आपको कई तरह से परेशानियां रह सकती हैं. काम काज में आपको बाहर से कुछ नए काम मिल सकते हैं.

वक्री गुरू का धनु राशि पर प्रभाव

इस समय आपको आर्थिक क्षेत्र में लाभ भी प्राप्त होगा. पर साथ ही इस समय आप घरेलू खर्चों में भी व्यय करेंगे. आपमें क्रोध अधिक बढे़गा वाणी में कठोरता रहेगी. जल्दबाजी से बचें ओर धैर्य के साथ काम लीजिए. क्योंकि इस समय धनु राशि पर पाप ग्रहों का प्रभाव अधिक रहेगा.

वक्री गुरू का मकर राशि पर प्रभाव

इस माह आपको कार्य क्षेत्र में व्यस्तता की स्थिति परेशान करेगी. काम में बार-बार बदलाव के चलते मार्किट में जो भी नई होड़ मची है वह आपके काम को भी प्रभावित करने वाली होगी.

वक्री गुरू का कुम्भ राशि पर प्रभाव

यहां आपको मानसिक और शारीरिक रूप से तकलीफ़ की स्थिति परेशान करेगी. धार्मिक क्षेत्र में आप अधिक रमे होंगे और इस समय कुछ धर्म से संबंधी यात्राओं में भी शामिल रहेंगे.

वक्री गुरू का मीन राशि पर प्रभाव

वाद-विवाद की स्थिति उभरेगी, घरेलू जीवन में उलझनों के चलते आप सही से किसी निर्णय को सही से न ले पाएं. जीवन साथी की ओर से आपको पूर्ण सहयोग न मिल सके.