Articles in Category Muhurta

कैसे बनता है यमघंटक योग | How does ‘Yamghantak Yoga’ appear ?

कुछ अशुभ योगों की गिनती में यमघंटक योग का नाम भी आता है. यह वह योग है जो अच्छे कार्यों में त्याज्य होता है. इस योग में व्यक्ति के किए गए शुभ कार्यों में असफलता की संभावना बढ़ जाती है. ज्योतिष में

मार्च 2018 के सर्वार्थ सिद्धि-अमृत सिद्धि योग में पूरे होंगे काम |Sarwarth Siddhi - Amrit Siddhi yog in March 2018

किसी भी मुख्य कार्य को करने के लिए ज्योतिष में शुभ मुहूर्त विचार के बारे में बताया गया है. कई बार परिस्थिति वश अथवा समय के अभाव के चलते उपयुक्त समय न मिल पाने के कारण कोई सुनिश्चित या निर्धारित

मार्च 2018 में नई दुकान और व्यवसाय शुरू करने का शुभ मुहूर्त | Auspicious Time To Start New Shops And Business For March 2018

काम को लेकर सभी के मन नई-नई योजनाएं बनती ही रहती है. हर व्यक्ति यह चाहता है की जब भी वह कोई नय काम शुरू करे तो उसे उक्त काम में अच्छी सफलता मिले. अपने काम से वह धन और मान सम्मान की प्राप्ति करे और

मार्च 2018 में इस समय करें वाहन की खरीदारी तो होगा फायदा | March 2018 Auspicious Dates and Timings to Buy Vehicle

नए और अच्छे वाहन की चाहत तो सभी के मन में रहती है, पर इसके साथ ही जो वस्तु हम ले रहे हैं वो सही रहे कोई दिक्कत न आई और हमारे लिए शुभदायक हो यह सभी बातें मन में चलती ही रहती हैं. इन सभी बातों को ध्यान

वर्ष 2018 में बनने वाला गुरु पुष्य योग दिलाएगा सफलता | Guru Pushya Yoga Will Bring Success In 2018

गुरू पुष्य योग एक बहुत ही विशिष्ट एवं महत्वपूर्ण योग माना जाता है. ज्योतिष में इस योग की बहुत महत्ता है. इस योग के समय किए गए कार्यों में सफलता एवं शुभता की संभावना में वृद्धि होती है. इसके साथ ही

मुंडन मुहूर्त्त 2018 | Mundan Muhurat in 2018 | Auspicious Mundan Dates 2018 | Mundan Sanskar Muhurat 2018

प्राचीन काल से, भारतीय वैदिक ज्योतिष में ऋषियों ने सोलह संस्कारों का वर्णन किया है. इन सोलह संस्कारों के अन्तर्गत यह भी कहा जाता है कि बच्चे के मुण्डन संस्कार समारोह के बारे में भी उल्लेख किया गया

शुभ विवाह मुहुर्त अक्तूबर 2018 | Marriage Muhurat October 2018

अक्तूबर 2018 में निम्न तिथियों में विवाह करना शुभ रहेगा. यहां जन्म राशि से अभिप्राय: चन्द्र स्थित राशि से है. इन विवाह मुहूर्तो में त्रिबल शुद्धि, सूर्य-चन्द्र शुद्धि व गुरु की शुभता का ध्यान रखा गया

शुभ विवाह मुहुर्त सितंबर 2018 | Shubh Vivah Muhurat September 2018

सितंबर 2018 में निम्न तिथियों में विवाह करना शुभ रहेगा. यहां जन्म राशि से अभिप्राय: चन्द्र स्थित राशि से है. इन विवाह मुहूर्तो में त्रिबल शुद्धि, सूर्य-चन्द्र शुद्धि व गुरु की शुभता का ध्यान रखा गया

शुभ विवाह मुहुर्त अगस्त 2018 | Shubh Vivah Muhurat August

अगस्त 2018 में निम्न तिथियों में विवाह करना शुभ रहेगा. यहां जन्म राशि से अभिप्राय: चन्द्र स्थित राशि से है. इन विवाह मुहूर्तो में त्रिबल शुद्धि, सूर्य-चन्द्र शुद्धि व गुरु की शुभता का ध्यान रखा गया

शुभ विवाह मुहुर्त जुलाई 2018 | Shubh Vivah Muhurat July 2018

जुलाई 2018 में निम्न तिथियों में विवाह करना शुभ रहेगा. यहां जन्म राशि से अभिप्राय: चन्द्र स्थित राशि से है. इन विवाह मुहूर्तो में त्रिबल शुद्धि, सूर्य-चन्द्र शुद्धि व गुरु की शुभता का ध्यान रखा गया

शुभ विवाह मुहुर्त जून | Shubh Vivah Muhurat June | Marriage Muhurat June

हिन्दूओं में शुभ विवाह की तिथि ज्ञात करने के लिये वर-वधू की जन्म राशि का प्रयोग किया जाता है. वर या वधू का जन्म जिस चन्द्र नक्षत्र में हुआ होता है, उस नक्षत्र के चरण में आने वाले अक्षर को भी विवाह की

शुभ विवाह मुहुर्त अप्रैल 2018 | Marriage Muhurat March 2018

विवाह के लिए मुहूर्त समय का निर्धारण करने के लिये वर-कन्या की राशियों में विवाह की एक समान तिथि को विवाह मुहूर्त के लिये लिया जाता है. वर और कन्या की कुण्डलियों का मिलान कर लेने के पश्चात उनकी

शुभ विवाह मुहुर्त मार्च 2018 | Shubh Vivah Muhurat March 2018

विवाह के लिए मुहूर्त समय का निर्धारण करने के लिये वर-कन्या की राशियों में विवाह की एक समान तिथि को विवाह मुहूर्त के लिये लिया जाता है. वर और कन्या की कुण्डलियों का मिलान कर लेने के पश्चात उनकी

शुभ विवाह मुहुर्त फरवरी 2018 | Marriage Muhurat February 2018

विवाह के लिए मुहूर्त समय का निर्धारण करने के लिये वर-कन्या की राशियों में विवाह की एक समान तिथि को विवाह मुहूर्त के लिये लिया जाता है. वर और कन्या की कुण्डलियों का मिलान कर लेने के पश्चात उनकी

हिन्दु विवाह मुहूर्त वर्ष 2018| Hindu Marriage Muhurat 2018 | Vivah Shubh Muhurat

विवाह लग्न मुहूर्त ज्ञात करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक माना गया है. जैसे - गुरु, शुक्र का अस्तांगत होना, चन्द्र अथवा सूर्य ग्रहण, पितृपक्ष, भीष्म पंचक आदि समय में विवाह करना शास्त्र संगत

मुहूर्त में महत्वपूर्ण बातें | Important Facts In Muhurat

आज इस लेख के माध्यम से हम मुहूर्त से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण बातों पर विचार करना चाहेगें कि कौन सा मुहूर्त कब अच्छा होता है और इसमें किन - किन बातों का ध्यान रखना चाहिए. गोधूलि लग्न | Godhuli Lagna

मुहूर्त्त विचार | Muhurta | Importance of Muhurta

मुहूर्त को भारतीय ज्योतिष में किसी कार्य विशेष को प्रारंभ एवं संपादित करने हेतु एक निर्दिष्ट शुभ समय कहा गया है. ज्योतिष के अनुसार शुभ मुहूर्त में कार्य प्रारंभ करने से कार्य बिना किसी रुकावट के और
  • 1