blue_sapphire

शनि रत्न नीलम के कई नाम है. इसे इंद्रनील, शौरी रत्न, नीलमणी, महानील, निलोफर, वाचिनाम से जाना जाता है (It is known by different names loke: Indranil, Shauri Ratna, Nilmani, Mahanil, Nilofar, Vachinam).  मराठी में इसे नील, और अग्रेंजी में इसे ब्लू सफायर कहा जाता है. नीलम रत्न अन्य सभी रत्नों की तुलना में सबसे अधिक प्रभावशाली फल देने वाले रत्न के नाम से विख्यात है. नीलम के विषय में एक मान्यता है कि यह रत्न जिसके अनुकुल हो जाये, उसे उन्नति कि उंचाईयों पर लेकर जाता है. और अगर अनुकुल न हों तो व्यक्ति को राजा से रंक बना देता है. ऎसे में इस रत्न को कभी भी अपने लग्न की जांच किये बिना धारण नहीं करना चाहिए. 

नीलम रत्न कौन धारण करें? | Who Should Wear Neelam Ratna ?

नीलम रत्न अपने धारक को शीघ्र प्रभाव देता है. आर्थिक अडचनों को दूर करने के लिये और सुख - संपति में बढोतरी करने के लिये इसे धारण किया जाता है. यह रत्न व्यक्ति को मानसिक सुख-शान्ति, ऎश्वर्य व सत्ता देता है. न्याय करने की क्षमता देता है. और इसे धारण करने से व्यक्ति में दार्शनिकता का भाव आता है. यह रत्न धारण करने ही अपना प्रभाव दिखाना प्रारम्भ कर देता है.  यह रत्न 12 लग्नों के लिये किस प्रकार के फल देता है, आईए जानने का प्रयास करते है.   

मेष लग्न- नीलम रत्न | Neelam Ratna for Aries Lagna

मेष लग्न के लिये शनि दशम व एकादश भाव के स्वामी है. आजिविका कार्यो और आय वृ्द्धि के लिये इस रत्न को धारण किया जा सकता है. साथ ही इसे शनि की महादशा में धारण करना चाहिए.   

वृ्षभ लग्न-नीलम रत्न | Influence of Blue Sapphire on Taurus Lagna

इस लग्न के लिये शनि लग्नेश शुक्र के मित्र है. व शनि कि स्थिति यहां पर नवमेश व दशमेश की होती है. इस लग्न के लिये शनि सबसे अधिक शुभ फल देने वाले ग्रह है. इस लग्न के व्यक्तियों को नीलम रत्न, हीरे के साथ धारण करना चाहिए.     

मिथुन लग्न-नीलम रत्न | Effect of Neelam Ratna on Gemini Lagna

मिथुन लग्न कि कुंडली में शनि अष्टम भाव व नवम स्थान का स्वामी बनता है. शनि मिथुन लग्न के लिये शुभ होने के कारण, इस लग्न का व्यक्ति अगर नीलम धारण करें तो उसके लाभदायक रहता है. इसके साथ ही ऎसे व्यक्तियों को लग्नेश बुध आ रत्न पन्ना व नीलम दोनों एक साथ धारण करने चाहिए.  

कर्क लग्न-नीलम रत्न | Impact of Neelam Stone on Cancer Lagna

कर्क लग्न की कुंडली में शनि सप्तम और अष्टम स्थान के स्वामी होते है. अत: कर्क लग्न के व्यक्ति को नीलम धारण नहीं करना चाहिए.     

सिंह लग्न-नीलम रत्न | Blue Sapphire for Leo Lagna

सिंह लग्न की कुण्डली में शनि छठे व सांतवें भाव के स्वामी होते हे. इस लग्न के व्यक्तियों को नीलम धारण करने से बचना चाहिए. अगर विशेष परिस्थितियों में इसे धारण करना ही पडे तो केवल शनि महादशा में इसे धारण करना चाहिए.  

कन्या लग्न-नीलम रत्न | Neemal Stone Benefits for Virgo Lagna

कन्या लग्न के लिये शनि पंचम व छठे भाव का स्वामी बनता है. कन्या लग्न के व्यक्तियों का नीलम रत्न धारण करना शुभ रहेगा.   

तुला लग्न-नीलम रत्न | Influence of Neelam Ratna on Libra Lagna

तुला लग्न की कुण्डली में शनि चतुर्थ व पंचम भाव के स्वामी है. इस लग्न के व्यक्ति इस रत्न को धारण करने पर लाभ प्राप्त करेगें.  

वृ्श्चिक लग्न-नीलम रत्न | Blue Sapphire for Scorpio Lagna

वृ्श्चिक लग्न की कुण्डली में शनि तीसरे व चतुर्थ भाव के स्वामी है. इस लग्न के लिये ये शुभ नहीं है. इस स्थिति में इस लग्न के व्यक्तियों को नीलम रत्न धारण नहीं करना चाहिए.   

धनु लग्न-नीलम रत्न | Neelam Stone - Impact on Sagittarius Lagan

धनु लग्न के लिये शनि दूसरे व तीसरे स्थान का स्वामी है. कुंडली के इन दोनों भावों को अशुभ माना जाता है. केवल परिवार व संचय दोनौं ही स्थितियों में इस रत्न को धारण किया जा सकता है. वह भी अगर शनि महादशा में धारण किया जाये तो शुभ रहता है.   

मकर लग्न-नीलम रत्न | Influence of Neelam Ratna on Capricorn Lagna

मकर लग्न के शनि तीसरे भाव के स्वामी व लग्नेश होते है. लग्नेश होने के कारण शुभ ग्रह है. लग्नेश शनि का रत्न धारण करने से इस लग्न के व्यक्तियों को लाभ प्राप्त होगा.     

कुम्भ लग्न-नीलम रत्न | Significance of Neelam Stone for Aquarius Lagna

कुंभ लग्न की कुण्डली में शनि एकादश व द्वादश स्थान का स्वामी है. कुंभ लग्न के व्यक्ति शनि रत्न नीलम धारण करें. 

मीन लग्न-नीलम रत्न | Effect of Neelam Gemstone on Pisces Lagna

मीन लग्न की कुण्डली में शनि एकादश व द्वादश स्थान का स्वामी है. इस लग्न के व्यक्तियों को शनि रत्न नीलम धारण नहीं करना चाहिए.    

नीलम रत्न के साथ क्या पहने ? | What Should I Wear with Blue Sapphire

नीलम रत्न के साथ पन्ना और हीरा धारण किया जा सकता है. या फिर इसके साथ पन्ना और हीरा रत्न के उपरत्न भी धारण करने से लाभ प्राप्त होता है.  

नीलम रत्न के साथ क्या न पहने? | What Not to Wear with Neelam Stone

नीलम रत्न धारण करने के बाद इसके साथ कभी भी व्यक्ति को माणिक्य, मोती, पुखराज व मूंगा धारण नहीं करना चाहिए.  साथ ही नीलम के साथ इन रत्नों में से किसी एक का भी उपरत्न धारण नहीं करना चाहिए.  

अगर आप अपने लिये शुभ-अशुभ रत्नों के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो आप astrobix.com की रत्न रिपोर्ट बनवायें. इसमें आपके कैरियर, आर्थिक मामले, परिवार, भाग्य, संतान आदि के लिये शुभ रत्न पहनने कि विधी व अन्य जानकारी के साथ दिये गये हैं: आपके लिये शुभ रत्न - astrobix.com