चन्द्र मंगल योग | Chandra Mangal Yoga | How is Chandra Mangal Yoga Formed | Chandra Mangal Yoga Result | Mahabhagya Yoga

चन्द्र तरल धन के कारक है. तथा मंगल साहस और उत्साह भाव का प्रतिनिधित्व करते है. यह योग व्यक्ति को साहस पूर्ण कार्यो से धन प्राप्ति के अवसर प्रदान करता है. चन्द्र मंगल योग की गणना विशेष धन योगों में की जाती है. 

चन्द्र मंगल योग कैसे बनता है | How is Chandra Mangal Yoga Formed

अगर चन्द्र और मंगल किसी भी एक राशि में एक साथ हो तो यह योग बनता है. इस योग वाले व्यक्ति के पास बहुत सी धन -संपति होती है. परन्तु उसके अपनी माता और अन्य सगे संबन्धियों के साथ उसका व्यवहार अच्छा नहीं होता है. जब चन्द्र और मंगल पर शुभ ग्रहों की दृष्टि हो तो व्यक्ति ईमानदारी से धन कमाता है. किन्तु अगर किसी पाप ग्रह की दृष्टि हो तो व्यक्ति धन कमाने के लिए अनुचित रास्तों का प्रयोग करता है. 

चन्द्र-मंगल योग फल | Chandra Mangal Yoga Result 

चन्द्र मंगल योग व्यक्ति को उच्च मनोबल में वृ्द्धि करता है. ऎसा व्यक्ति सामर्थ्यवान और शक्तिशाली होता है. व्यक्ति बुद्धिमान और एकाग्र मन वाला होता है.  इसके साथ ही यह योग क्योकि धन योग है, इसलिए इस योग वाला व्यक्ति अपने पुरुषार्थ से धन अर्जित करने में सफल होता है. 

Mahabhagya Yoga | Maha-Bhagya Yoga Definition

महा भाग्य योग लग्न, चन्द्र, और सूर्य की कुछ विशेष राशियों में स्थिति और दिन व रात्रि के जन्म के समय के आधार पर पुरुष व स्त्रियों के लिए प्रथक प्रथक देखा जाता है. ज्योतिष योगों में यह अपनी तरह का विशेष योग है, जो स्त्री और पुरुषों दोनों के लिए अलग अलग नियम रखता है. 

पुरुष कुण्डली महाभाग्य योग | Maha-Bhagya Yoga Daytime Birth

जिन पुरुषों का जन्म लग्न, चन्द्र व सूर्य सम राशि में हो तो महाभाग्य योग बनता है. जैसे अगर किसी पुरुष का जन्म अगर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के मध्य हुआ हो, तो और जन्म कुण्डली में लग्न राशि 2, 4, 6, 8, 10, 12 में से कोई एक हो, साथ ही चन्द्र और सूर्य इन्हीं राशियों में से किसी एक राशि में स्थित हो, तो यह योग बनता है. 

स्त्री कुण्डली महाभाग्य योग। Maha-Bhagya Yoga Night Time Birth

महाभाग्य योग के नियम पुरुषों के लिए इस योग के जो नियम है, स्त्रियों के लिए नियम बिल्कुल विपरीत है. पुरुष कुण्डली में यह योग तब बनता है, जब स्त्री का जन्म रात्रि का हो, लग्न, चन्द्र और सूर्य तीनों विषम राशि में हो, तो स्त्री कुण्डली में महा भाग्य योग बनता है. 

महाभाग्य योग फल | Results of Mahabhagya Yoga 

महाभाग्य योग व्यक्ति को चरित्रवान बनाता है. इस योग से युक्त व्यक्ति उदारचित, लोकप्रिय और प्रसिद्ध होता है. उसे राजकीय कार्यो में भाग लेने के अवसर प्राप्त होते है. साथ ही उसके दीर्घजीवी होता है. 

स्त्रियों की कुण्डली में यह योग स्त्रियों को शालीन बनाता है. ऎसी स्त्री अति सुशील, व सभ्य होती है.