रमा एकादशी व्रत | Rama Ekadashi 2017 | Rama Ekadashi Vrat

एकादशी के व्रत को व्रतों में श्र्ष्ठ माना गया है. एकादशी व्रत का उपवास व्यक्ति को अर्थ-काम से ऊपर उठकर मोक्ष और धर्म के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है. इसी श्रेणी में रमा एकादशी व्रत भी आता है. यह व्रत कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को किया जाता है. वर्ष 2017 में 15 अक्टूबर के दिन रमा एकादशी व्रत किया जायेगा. इस दिन भगवान श्री विष्णु जी का पूजन एवं भागवत गीता का पाठ इत्यादि कार्य उत्तम होते हैं. रमा एकादशी पौराणिक महत्व | Mythological Significance of Rama...

रूप चतुर्दशी 2017 | Roop Chaturdashi 2017 | Roop Chaturdashi

रूप चतुर्दशी को नर्क चतुर्दशी, नरक चौदस, रुप चौदस अथवा नरका पूजा के नामों से जाना जाता है. इस दिन कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी पर मृत्यु के देवता यमराज की पूजा का विधान होता है. इस वर्ष 2017 को रूप चतुर्दशी 18 अक्तूबर के दिन मनाई जाएगी. इसे छोटी दीपावली के रुप में मनाया जाता है इस दिन संध्या के पश्चात दीपक जलाए जाते हैं और चारों ओर रोशनी की जाती है. रूप चौदस के दिन तिल का भोजन और तेल मालिश, दन्तधावन, उबटन व स्नान आवश्यक होता है. नर्क चतुर्दशी | Narak Chaturdashi नरक...

हनुमान जयंती | Hanuman Jayanti | Hanuman Jayanti 2017 | Hanuman Birthday

निशीथव्यापिनी कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को हनुमान जयंती का महोत्सव मनाया जाता है. इस वर्ष 18 अक्तूबर 2017 को बुधवार के दिन अर्धव्यापिनी होने से हनुमान जयंती इसी दिन मनाई जाएगी. इस दिन भक्तों को चाहिए की वह प्रात: स्नानादि से निवृत होकर संकल्प लेकर भगवान हनुमान जी का षोडशोपचार पूजन करें पूजन पश्चात सुगंधित तेल में सिन्दूर मिलाकर उसे भगवान हनुमान जी को अर्पित करना चाहिए. लाल पुष्पों से पूजन करें, नवैद्य के लिए घी युक्त आटे का चूरमा, लड्डू, फलों का उपयोग करें....

धनवंतरी त्रयोदशी | Dhanvantari Trayodashi | Dhanvantari Trayodashi 2017 | Dhanteras 2017

शास्त्रों के अनुसार धनतेरस के दिन भगवान धन्वंतरि जी का प्रकाट्य हुआ था, इस वर्ष धन तेरस, कार्तिक कृष्ण पक्ष 17 अक्तूबर, 2017 को मनाया जाएगा. आयुर्वेद के जनक धन्वंतरि समुद्र मंथन के समय इसी शुभ दिन अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे. इस कारण इस दिवस को धनवंतरि त्रयोदशी के रूप में भी मनाया जाता है. धनवंतरी त्रयोदशी के दिन मुख्य द्वार पर और आंगन में दीप जलाए जाते हैं. धनवन्तरी के अलावा इस दिन, देवी लक्ष्मी जी और धन के देवता कुबेर के पूजन की परम्परा है. इस दिन यमदेव की पूजा करने के विषय...

नवरात्रों में गृह शांति के उपाय | Remedies For Planet Pacification in Navratras

नवरात्रों के समय गृह शांति पूजा सभी बाधाऔम को दूर करने का योग्य समय होता है. अध्यात्मिक साधना के लिए जो लोग इच्छुक होते हैं वह लोग इन दिनों साधना रत रहते है. ग्रहों से पीड़ित व्यक्ति इन दस दिनों में ग्रह शांति भी कर सकते हैं यह इसके लिए उत्तम समय होता है. दुर्गा पूजा के साथ ग्रह शांति | Planet Pacification Rituals with Durga Puja माता दुर्गा ही सभी तंत्र और मंत्र की आधार हैं.यह देवी कालरात्रि हैं, काली और कपालिनी हैं.सभी तंत्र और मंत्र, यंत्र इन्हीं से जन्म लेते हैं...

अहोई अष्टमी व्रत पूजन 2017 | Ahoi Ashtami Vrat Puja 2017 | Ahoi Ashtami Vrat | Ahoi Aathe 2017

कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष कि अष्टमी को अहोई अष्टमी का व्रत किया जाता है. यह व्रत पूजन संतान व पति के कल्याण हेतु किया जाता है. अहोई अष्टमी व्रत उदयकालिक एवं प्रदोषव्यापिनी अष्टमी को ही किया जाता है. यह व्रत मुख्यत: स्त्रियों द्वारा किया जाता है. सन्तान की रक्षा और उसकी लंबी उम्र की कामना के लिए यह व्रत मुख्य है. वर्ष 2017 को अहोई अष्टमी 12 अक्टूबर के दिन मनाई जानी है. अहोई अष्टमी महत्व | Ahoi Ashtami Importance संतान की शुभता को बनाये रखने के लिये क्योकि यह उपवास किया...

करवा चौथ व्रत 2017 | Karwa Chauth Vrat 2017 | Karva Chauth 2017

कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की चन्द्रोदय व्यापिनी चतुर्थी के दिन करवा चौथ का व्रत किया जाता है, पति की दीर्घायु एवं अखण्ड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए इस दिन चंद्रमा की पूजा अर्चना की जाती है. करवा चौथ व्रत को करक चतुर्दशी के नाम से भी जाना जाता है. इस वर्ष करवा चौथ का त्योहार 8 अक्तूबर 2017 को मनाया जाएगा. करवा चौथ का व्रत अपने पति के स्वास्थय और दीर्घायु के लिये किया जाने वाला व्रत है. उत्तरी भारत में यह व्रत आज श्रद्धा व विश्वास की सीमाओं से आगे निकलकर, नये रंग में रंग गया है....

कार्तिक मास के त्यौहार | Kartik Month Festivals | Festivals in Kartik Maas

करवा चौथ व्रत | Karva Chauth Vrat करवा चौथ व्रत कार्तिक माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन मनाया जाता है. यह पवित्र पर्व सौभाग्यवती स्त्रियाँ मनाती हैं. पति की दीर्घायु एवं अखण्ड सौभाग्य की प्राप्ति के लिए इस दिन चंद्रमा की पूजा की जाती है. इसी के साथ देवी गौरी भगवान शिव एवं गणेश जी की पूजा अर्चना की जाती है. करवाचौथ के दिन उपवास रखकर रात्रि समय चन्द्रमा को अ‌र्घ्य देने के उपरांत ही भोजन करने का विधान है. अहोई अष्टमी व्रत | Ahoi Ashtami Vrat यह व्रत कार्तिक...

दशहरे के विभिन्न रुप | Various forms of Dussehra | Other facts associated with Dussehra

रामलीला | Ramlila दशहरा पर्व से पूर्व नौ दिनों तक कई स्थानों पर रामलीलाओं का आयोजन किया जाता है. इसमें राम-सीता के जीवन की झाँकियां दिखाई जाती है. इस दौरान बड़े मेलों का आयोजन किया जाता है. रामलीला नाटक का मंचन देश के विभिन्न क्षेत्रों में भी होता है और दशहरे वाले दिन रावण का संहार किया जाता है. देश भर में इस दिन विभिन्न जगहों पर रावण, कुम्भकरण तथा मेघनाथ के बडे-बडे पुतले लगाए जाते हैं और शाम को श्रीराम के वेशधारी युवक अपनी सेना के साथ पहुंच कर रावण का संहार करते...

पापाकुंशा एकादशी 2017 | Papankusha Ekadashi 2017 | Papankusha Ekadashi

पापाकुंशा एकादशी व्रत आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन किया जाता है. पापाकुंशा एकादशी के दिन मनोवांछित फल कि प्राप्ति के लिये श्री विष्णु भगवान कि पूजा की जाती है. इस वर्ष 1 अक्तूबर 2017 को यह व्रत किया जाएगा. एकादशी के पूजने से व्यक्ति को स्वर्ग लोक की प्राप्ति होती है. भगवान विष्णु का भक्ति भाव से पूजन आदि करके भोग लगाया जाता है. पापाकुंशा एकादशी हजार अश्वमेघ और सौ सूर्ययज्ञ करने के समान फल प्रदान करने वाली होती है. इस एकादशी व्रत के समान अन्य कोई व्रत नहीं है. इसके...

सिद्धिदात्री पूजन | Siddhidatri Puja | Ninth Day of Navratri | Siddhidatri Puja Muhurat

नवरात्र-पूजन के नौवें दिन माँ सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है. नवमी के दिन सभी सिद्धियों की प्राप्ति होती है. सिद्धियां हासिल करने के उद्देश्य से जो साधक भगवती सिद्धिदात्री की पूजा कर रहे हैं उन्हें नवमी के दिन इनका पूजन अवश्य करना चाहिए. सिद्धि और मोक्ष देने वाली दुर्गा को सिद्धिदात्री कहा जाता है. नवरात्र के नौवें दिन जीवन में यश बल और धन की प्राप्ति हेतु इनकी पूजा की जाती है. तथा नवरात्रों का की नौ रात्रियों का समापन होता है. माँ दुर्गा की नौवीं शक्ति सिद्धिदात्री हैं, इन...

महागौरी पूजन | Maha Gauri Puja | Eighth Day of Navratri | Mahagauri Puja Muhurat

नवरात्रों के आठवें दिन महागौरी की पूजा अर्चना की जाती है. इस वर्ष 28 सितंबर 2017 के दिन महागौरी पूजन संपन्न होगा. माँ महागौरी की पूजा से भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं तथा देवी का भक्त जीवन में पवित्र और अक्षय पुण्यों को प्राप्त करता है. महागौरी आदी शक्ति हैं इनके तेज से संपूर्ण विश्व प्रकाश-मान होता है, इनकी शक्ति अमोघ फल प्रदान करने वाली हैं, देवी गौरी ने देवों की प्रार्थना व भक्तों के उद्धार हेतु शुम्भ निशुम्भ का अंत किया व सृष्टि को दैत्यों के प्रकोप से मुक्त कराया....

कालरात्रि पूजन | Kalratri Puja | Seventh Day of Navratri | Kalratri Puja Muhurat

नवरात्रों के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा की जाती है. माता के इस सातवें रूप को कालरात्रि कहा जाता है, इस वर्ष 27 सितंबर 2017 के दिन माँ कालरात्री जी की पूजा की जानी है. माँ कालरात्रि अपने भक्तों को सदैव शुभ फल प्रदान करने वाली होती हैं इस कारण इन्हें शुभंकरी भी कहा जाता है. कालरात्रि स्वरुप | Kalratri Forms मां कालरात्रि का स्वरूप देखने में अत्यंत भयानक है, इनका वर्ण अंधकार की भाँति काला है, केश बिखरे हुए हैं, कंठ में विद्युत की चमक वाली माला है, माँ कालरात्रि...

कात्यायनी पूजन | Katyayani Puja | Sixth Day of Navratri - Katyayani Puja Muhurat

नवरात्रों के छठे दिन माँ कात्यायनी की पूजा की जाती है. इस वर्ष नवरात्रों का छठा दिन 26 सितंबर 2017 के दिन होना है. महर्षि कात्यायन की पुत्री और उन्हीं के द्वारा सर्वप्रथम पूजे जाने के कारण देवी दुर्गा को कात्यायनी कहा गया. माँ कात्यायनी का स्वरूप अत्यन्त दिव्य और स्वर्ण के समान चमकीला है. यह अपनी प्रिय सवारी सिंह पर विराजमान रहती हैं. इनकी चार भुजायें भक्तों को वरदान देती हैं, इनका एक हाथ अभय मुद्रा में है, तो दूसरा हाथ वरदमुद्रा में है अन्य हाथों में तलवार तथा कमल का फूल...

स्कन्दमाता पूजन | Skandmata Puja | Fifth Day of Navratri - Skandmata Puja Muhurat

नवरात्रों के पांचवें दिन स्कन्दमाता की पूजा की जाती है. भगवान स्कन्द कुमार अर्थात कार्तिकेय की माता होने के कारण दुर्गा जी के इस पांचवे स्वरूप को स्कंद माता नाम से पुकारा जाता है. स्कंदमाता कि पूजा का यह पांचवां दिन इस वर्ष 25 सितंबर 2017 के दिन होगा. इस दिन स्कन्द माता का पूजन भक्तों को माता के वात्सल्य से भर देता है. एकाग्रभाव से मन को पवित्र करके माँ की स्तुति करने से दुःखों से मुक्ति पाकर मोक्ष का मार्ग सुलभ होता है. माता की गोद में स्कंद भगवान विराजमान होते हैं, स्कंद माता...

उपांग ललिता व्रत | Upang Lalita Vrat | Upang Lalita Panchami 2017

आदि शक्ति माँ ललिता दस महाविद्याओं में से एक हैं, उपांग ललिता का व्रत भक्तजनों के लिए शुभ फलदायक होता है. इस वर्ष उपांग ललिता व्रत 24 सितंबर 2017 के दिन किया जाएगा. इस दिन उपांग ललिता की पूजा भक्ति-भाव सहित करने से देवी मां की कृपा व आशिर्वाद प्राप्त होता है. जीवन में सदैव सुख व समृद्धि बनी रहती है. पौराणिक आख्यानों के अनुसार आदिशक्तित्रिपुर सुंदरी जगत जननी ललिता माता के दर्शन से समस्त कष्टों का निवारण स्वत: ही हो जाता है. उपांग ललिता | Upang Lalita उपांग ललिता शक्ति...

कूष्माण्डा पूजन 2017| Kushmanda Puja | Fourth Day of Navratri | Kushmanda Puja Muhurat

मां दुर्गा के नवरूपों में चौथा रूप है कूष्माण्डा देवी का दुर्गा पूजा के चौथे दिन देवी कूष्माण्डा जी की पूजा का विधान है. इस साल 2017 को 24 सितंबर के दिन कूष्माण्डा पूजन संपन्न होगा. देवी कूष्माण्डा अपनी मन्द मुस्कान से ब्रह्माण्ड को उत्पन्न करने के कारण कूष्माण्डा देवी के नाम से प्रसिद्ध हुईं. इस दिन उसे अत्यंत पवित्र और शांत मन से कूष्माण्डा देवी के स्वरूप को ध्यान में रखकर पूजा करनी चाहिए. कूष्माण्ड कूम्हडे को कहा जाता है, कूम्हडे की बलि इन्हें प्रिय है, इस कारण भी इन्हें...

चन्द्रघंटा पूजन | Chandraghanta Puja | Third Day of Navratri 2017 | Chandraghanta Puja Muhurat

देवी दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है. नवरात्र पूजा के तीसरे दिन शक्ति के तीसरे स्वरूप देवी चंद्रघंटा की पूजा की जाती है. इस साल 2017 को 23 सितंबर के दिन चंद्रघंटा पूजन संपन्न होगा. इस दिन का दुर्गा पूजा में विशेष महत्व बताया गया है तथा इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन किया जाता है. माँ चन्द्रघंटा की कृपा से समस्त पाप और बाधाएँ विनष्ट हो जाती हैं. देवी चंद्रघंटा की मुद्रा सदैव युद्ध के लिए अभिमुख रहने की होती हैं, इनकी अराधना फलदायी है. माता के सिर पर अर्ध चंद्रमा...

ब्रह्मचारिणी पूजन | Brahmacharini Puja | Second Day of Navratri 2017 | Brahmacharini Puja Muhurat

नवरात्र के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना का विधान है. देवी दुर्गा के द्वितीय रूप माँ ब्रह्मचारिणी जी की पूजा की जाती है. इस साल 2017 को 22 सितंबर, के दिन ब्रह्मचारिणी पूजन संपन्न होगा. देवी ब्रह्मचारिणी का तपस्विनी जैसा होता है. शक्ति का यह दूसरा स्वरूप भक्तों को अमोघ फल प्रदान करने वाला होता है. देवी ब्रह्मचारिणी की उपासना से तप, त्याग, सदाचार और संयम की वृद्धि होती है. माँ ब्रह्मचारिणी की कृपा से सर्वत्र सिद्धि और विजय की प्राप्ति होती है. दुर्गा पूजा में...

महर्षि वाल्मीकि जयंती 2017 | Maharishi Valmiki Jayanti 2017 | Valmiki Jayanti 2017

महर्षि वाल्मीकि प्राचीन वैदिक काल के महान ऋषियों कि श्रेणीमें प्रमुख स्थान प्राप्त करते हैं. इन्होंने संस्कृत मे महान ग्रंथ रामायण महान ग्रंथ की रचना कि थी इनके द्वारा रचित रामायण वाल्मीकि रामायण कहलाती है. हिंदु धर्म की महान कृति रामायण महाकाव्य श्रीराम के जीवन और उनसे संबंधित घटनाओं पर आधारित है. जो जीवन के विभिन्न कर्तव्यों से परिचित करवाता है. 'रामायण' के रचयिता के रूप में वाल्मीकि जी की प्रसिद्धि है. इनके पिता महर्षि कश्यप के पुत्र वरुण या आदित्य माने गए हैं. एक बार ध्यान...