अंगुलियों के झुकाव का अध्ययन | Analysis of Inclination of Fingers

हस्तरेखा `विज्ञान में हाथ का आकार व अंगुलियों के आकार प्रकार का काफी महत्व है. हर व्यक्ति का हाथ व अंगुलियों की आकृति भिन्न होती है. इसी तरह से अंगुलियों का झुकाव भी भिन्न ही होता है. अंगुलियों के झुकाव के आधार पर भी काफी कुछ बताया जा सकता है. आज हम अंगुलियों के झुकाव की बात करेगें.

अंगुलियों के झुकाव का विश्लेषण | Analysis of Inclination of Fingers

आप अपने हाथ को जितना फैला सकते हैं उतना फैलाने का प्रयास करें और देखें कि अंगुलियाँ किस अवस्था में हैं. अंगुलियों को फैलाने पर यदि सभी अलग-अलग हैं तब इसका अर्थ है कि हर पर्वत संतुलित अवस्था में है.

यदि हाथ की कोई अंगुली किसी अन्य अंगुली की ओर झुकी हुई है तो वह अपना गुण उस अंगुली को दे देती है जिसकी ओर झुकी हुई है. यदि सभी अंगुलियाँ एक्-दूसरे की ओर झुकी हैं तब ऎसा व्यक्ति लचीले स्वभाव का होता है. ऎसे व्यक्ति को ढ़ीला ढ़ाला सा कहा जाता है.

ऎसे व्यक्ति के विचार स्थायी नहीं होते है और हर समय बदलते रहते हैं. ऎसे व्यक्ति अपने इरादो के भी पक्के नही होते है. यदि सभी अंगुलियों का झुकाव मध्यमा की ओर है तब शनि पर्वत के गुण तथा विशेषताएं बढ़ जाती है.

पहली अंगुली तर्जनी का झुकाव | Inclination of Index Finger

इस भाग में हम तर्जनी अंगुली के बारे में बात करेगें. तर्जनी अंगुली का झुकाव अंगूठे की ओर होने से आपके भीतर का अहं भाव कम हो जाएगा. तर्जनी अंगुली का झुकाव मध्यमा की ओर होने से व्यक्ति में गंभीरता कम होती है. वह किसी भी बात को लेकर ज्यादा गंभीर नहीं होता है.

इस अंगुली का झुकाव मध्यमा की ओर होने से व्यक्ति एकांत में नहीं रहता है़. वह सभी के बीच में रहना पसंद करता है.

मध्यमा का झुकाव | Inclination of Middle Finger

अब हम मध्यमा अंगुली की बात करते हैं. मध्यमा का झुकाव तर्जनी की ओर होने से व्यक्ति गंभीरता और बुद्धिमत्ता तर्जनी अंगुली को दे देता है. जब मध्यमा का झुकाव तर्जनी की ओर होता है तब तर्जनी का अहंकार कुछ कम हो जाता है क्योकि इसे मध्यमा की बुद्धिमत्ता मिल जाती है.

मध्यमा का झुकाव तर्जनी की ओर होने से व्यक्ति की दिखावे की प्रवृति थोड़ा अंकुश लग जाता है. इस अंगुली का झुकाव अनामिका की ओर होने से व्यक्ति में आत्मविश्लेषण करने की शक्ति पैदा होती है कि उसने खोया और क्या पाया तथा उसे क्या करना चाहिए आदि बाते होती हैं.

मध्यमा अंगुली के अच्छी हालत में होने से व्यक्ति एकांतप्रिय होता है लेकिन अनामिका की ओर झुकाव होने पर इस अंगुली का अपना एकांतप्रियता का गुण कम हो जाता है.

अनामिका के झुकाव का अध्ययन | Inclination of Ring Finger

अनामिका अंगुली के झुकाव के विषय में जानते हैं. अनामिका का झुकाव मध्यमा की ओर होने से यह अंगुली अपने बहिर्मुखता वाले गुण को इस मध्यमा अंगुली को दे देती है.अनामिका का झुकाव मध्यमा की ओर होने से मध्यमा की अन्तर्मुखता को कम करता है.

इस अंगुली का झुकाव कनिष्ठिका की ओर होने से यह कनिष्ठिका की स्वार्थ सिद्धि वाले गुण को कम करता है. व्यक्ति हर समय जो अपने स्वार्थ साधनो की पूर्ति में लगा रहता है उन स्वार्थ साधनों की पूर्ति में कमी आती है. अनामिका अंगुली कनिष्ठिका की ओर झुककर अपनी यश पाने की इच्छा कनिष्ठिका को दे देती है.

कनिष्ठिका के झुकाव का अध्ययन | Inclination of Little Finger

अंत में हम सबसे छोटी अंगुली कनिष्ठिका की बात करते हैं. कनिष्ठिका का अनामिका की ओर झुकाव अपनी हित साधना की प्रवृति उसे देती है.अनामिका की ओर झुकाव होने से कनिष्ठिका की यश पाने की इच्छा में स्वार्थ का भाव उत्पन्न हो जाता है.

कनिष्ठिका से शक्ति मिलने पर अनामिका की यश प्राप्ति में आदर्श की मात्रा कम हो जाती है. यदि कनिष्ठिका अनामिका की बजाय हथेली में बाहर की ओर झुकी होती है तब व्यक्ति का जीवन लापरवाहियों से भरा होता है. ऎसे व्यक्ति को कभी किसी की परवाह नहीं होती है.

Categories: