नाखूनो पर बनी धारियों का अध्ययन | Analysis of the Lines and Pits on Our Nails - Palmistry

हस्तरेखा शास्त्र में बहुत सी बातों का अध्ययन किया जाता है. एक कुशल हस्तरेखा शास्त्री हाथों की सभी बातों का गहराई से तथा सूक्ष्मता से विश्लेषण करने के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचता है. हाथों की रेखाओं के साथ हाथ के नाखूनों का भी अत्यधिक महत्व माना गया है. हर व्यक्ति के नाखूनो का आकार भिन्न होता है और उस बनी धारियाँ भी भिन्न होती हैं. आज हम व्यक्ति के हाथों के नाखून पर बने गड्ढो तथा धारियों का आंकलन करेगे.

नाखूनों पर धब्बो का अध्ययन | Analysis of the spots on your nails

आरंभ नाखूनों पर बने धब्बो से करते हैं. आपने शायद ही अपने नाखूनो को कभी ध्यान से देखा हो. हम में से अधिकतर इस बात से अनजान ही रहते हैं कि हमारे नाखून कैसे है! आपके नाखूनो पर बने सफेद धब्बे मानसिक दबाव व तनाव को दर्शाते हैं.

यदि आपके नाखून पर सफेद धब्बे बने हैं तब वह व्यक्ति के स्नायुमंडल की कमजोरी भी बताते हैं. यदि व्यक्ति मानसिक तनाव को कम कर दे अर्थात ऎसा काम करना बंद कर दे जिससे मानसिक परेशानी होती है तो यह धब्बे हट सकते हैं. इसलिए यदि आपके हाथ में यह धब्बे बने हों तब आप मस्तिष्क का काम कम कर सकते हैं. नाखूनो पर बने काले या पीले धब्बे जीवन में व्यक्ति की असफलता तथा स्वास्थ्य की कमजोरी बताते हैं.

नाखूनो पर बने गड्ढे तथा आड़ी धारियाँ | Analysis of pits and horizontal lines on your nails

इस भाग में हम नाखूनो पर बने गड्ढे और आड़ी धारियों के बारे में बात करेगें. नाखूनो पर बनी आड़ी धारियाँ व छोटे गड्ढे अत्यधिक मानसिक परेशानी बताते हैं. यदि किसी व्यक्ति के नाखून का विकास कुछ समय के लिए रुक जाता है तब यह गड्ढे बनते हैं.

व्यक्ति के हाथ में जब भी यह गड्ढे बनते हैं तब ऎसा किसी अनचाही स्थिति का सामना करने पर होता है. जिनके नाखून में गड्ढे बने होते हैं उन्हें ब्लड प्रेशर व हृ्दय की बीमारी होने की संभावना बन सकती है. गड्ढो की नाखून पर स्थिति को देखकर बीमारी के समय का पता लगाया जा सकता है.

नाखून पर बनी खड़ी धारियाँ | Analysis of the vertical lines on your nails

अंत में हम नाखूनो पर बनी खड़ी धारियों के बारे में बात करेंगे. नाखून पर बनी खड़ी धारियाँ व्यक्ति के स्नायुमंडल की कमजोरी बताती हैं. नाखून पर जब खड़ी धारियाँ बनती है तब एक धब्बे जैसा निशान दिखाई देने लगता है.

यदि कमजोर स्नायुमंडल का व्यक्ति समय पर ईलाज करा लेता है तब यह धब्बा धीरे-धीरे समाप्त हो जाता है. लेकिन यदि व्यक्ति समय पर ईलाज नही कराता है तब यह खड़ी धारियाँ ज्यादा समय तक बनी रहती हैं. नाखून पर पहले धब्बा बनता है फिर धीरे-धीरे यह खड़ी धारियों में बदलना आरंभ कर देता है.

जब यह खड़ी धारियाँ बन जाती है तब नाखून की अपनी चमक खो जाती है. यदि नाखूनो पर अधिक धारियाँ बन जाती है तब यह ज्यादा तनाव की ओर इशारा करती है और कम बनी धारियाँ कम तनाव के बारे में बताती है.

यदि व्यक्ति के नाखूनो का आकार सामान्य से बड़ा है तब गड्ढे व धारियों का प्रभाव कम होता है. जिन व्यक्तियों के नाखून बहुत छोटे हैं या सामान्य से कुछ छोटे हैं अथवा लंबे हैं तब गड्ढे व धारियों का प्रभाव इन पर ज्यादा होता है.

Categories: