अंक शास्त्र के अनुसार गाड़ी और मोबाईल नंबर | Car and Mobile Number as per Numerology

अंकशास्त्र में बहुत सी बातों का अधय्यन किया जाता है. इस विद्या का एक सीधा सा नियम है, जिसके अनुसार आपके नाम के अंको का कुल जोड़ या आपकी जन्म तारीख के अंको का कुल जोड़ आपकी किसी भी महत्वपूर्ण बात या घटना से अच्छा तालमेल बनाता है तब वह आपके लिए अच्छे फल प्रदान करने वाली होगी अन्यथा शुभ फलों में कमी होगी. आज इस लेख के माध्यम से हम आपको आपकी गाड़ी का अंक और मोबाईल के अंक के बारे में बताने का प्रयास करेगें.

गाड़ी का नंबर | Car Number

आप गाड़ी खरीदते समय बहुत सी बातों का ध्यान रखते हैं. आप जब नई गाड़ी खरीदते हैं तब आपकी गाड़ी आपको काफी परेशानी प्रदान करती है. कभी उसमें कुछ खराबी हो गई तो कभी कुछ और परेशानी हो जाती है. कई बार गाड़ी के रख रखाव पर सामान्य से अधिक पैसा खर्च होता है. बहुत बार ऎसा भी होता है कि आपकी गाड़ी के साथ टूट फूट कुछ ज्यादा बनी रहती है. आप बहुत परेशान हो जाते हैं कि क्या करें और क्या ना करें. बहुत से लोग ऎसे भी हैं जिनकी गाड़ी कम पैसा खाती है और ज्यादा परेशानी भी नही देती है. उसके रख रखाव में भी कम खर्चा होता है.

आपने कभी सोचा कि इसका क्या कारण हो सकता है! आप जब नई गाड़ी खरीदते हैं तब आप कुछ बातों पर यदि गौर फरमाएंगे तब आपको परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी. आप अपने टेलेन्ट नंबर अथवा डेस्टिनी नंबर से गाड़ी के अंक को मिलाकर देख सकते है कि क्या वह आपस में सामजंस्य रखते हैं, यदि हां तब आपके लिए आपकी गाड़ी लाभदायक सिद्ध हो सकती है.

आप गाड़ी के पूरे अंको का जोड़ करें और अंतिम अंक को मिलाएँ. गाड़ी के जो भी अल्फाबेट्स हैं उन्हें और गाड़ी की संख्याओं, सभी का जोड़ करें. माना किसी की गाड़ी का पूरा नंबर DLT - 2654 है. अब हम इसका कुल जोड़ करेगें. जो इंगलिश के हिज्जे हैं उनका अंकशास्त्र में मूल्याँकन करेगें. D का अंक 4 है, L का अंक 3 है और T का अंक 2  है. अब हम सभी का जोड़ करेगें.

4+3+2+2+6+5+4 = 26 इसका फिर से जोड़ करेगें. 2+6 = 8 इस प्रकार गाड़ी का अंक 8 हुआ. अब जो अंक आठ अंक से मेल खाते हुए होगें उन्हीं लोगो को आठ अंक वाली गाड़ी अनुकूल फल प्रदान करेगी.

मोबाईल नंबर | Mobile Number

आप मोबाईल खरीदते हैं और खरीदने के कुछ दिन बाद उसमें खराबी आ जाती है या आपका मोबाईल बहुत जल्दी खराब हो जाता है. कभी कोई फंक्शन खराब हो जाता है तो कभी कुछ परेशानी का सामना करना पड़ता है. कभी मोबाईल चोरी हो जाता है. मोबाईल पर आपके बहुत ज्यादा पैसे खर्च होते हैं. ऎसा होने का कारण यह है कि आपके मोबाईल का नंबर आपके डेस्टिनी नंबर या आपके टेलेन्ट नंबर से मेल नहीं खाता है. आप अपने मोबाईल के सभी अंको का कुल जोड़ करें और देखे कि क्या वह आपके डेस्टिनी या टेलेन्ट नंबर से तालमेल कर रहे हैं.

माना आपके मोबाईल का नंबर 9953467899 है. आप इन अंको का कुल जोड़ करें. 9+9+5+3+4+6+7+8+9+9 = 69 है, अब इसे फिर जोड़्गे. 6+9 = 15, 1+5 = 6. इस प्रकार आपके मोबाईल का अंक 6 हुआ. हमें जब तक अंतिम संख्या नहीम मिल जाती तब तक जोड़ना है. यह मोबाईल नंबर उन्हीं लोगो के लिए शुभ होगा जिनसे यह अंक तालमेल रखता होगा. दूसरी महत्वपूर्ण बात यह है कि आप जब भी मोबाईल नंबर लें तब मोबाईल नंबर के कम से कम अंतिम चार अंक बढ़ते हुए क्रम में होने चाहिए. जैसे हमने ऊपर उदाहरण में जो मोबाईल नंबर लिया है उसके अंतिम सात अंक बढ़ते हुए क्रम में है. इसलिए यह अनुकुल नंबर माना जाएगा.

Categories: