अंकशास्त्र में विभिन्न अंको की गणना | Calculating different numbers in Numerology

जब माता-पिता अपने बच्चे का नामकरण करते हैं तब उम्र भर के लिए वही नाम उसकी सबसे बड़ी विशेषता बन जाता है. नाम होगा या बदनाम होगा, दोनो ही सूरतो में नाम का महत्व होगा. व्यक्ति का नाम उसके जीवन के भूत, वर्तमान तथा भविष्य की कहानी सुनाता है. व्यक्ति का नाम उसके जीवन की सभी घटनाओ की आत्मकथा प्रस्तुत कर देता है. अंक शास्त्र के अनुसार हर अंक में रहस्यमयी और आध्यात्मिक शक्तियो का समावेश होता है.

हर अंक की अपनी विशेषता होती है और एक विशेष विद्युत चुंबकीय शक्ति हर अंक में होती है. अंको इन शक्तियों से सभी आसानी से और निश्चित तौर पर प्रभावित होते हैं. अंक शास्त्र के माध्यम से आप सभी अब यह समझ सकते हैं कि क्युं एक आदमी की अपनी विशेषता होती है क्योकि वह एक खास अंक प्रभावित जो होता है.

अंक शास्त्र में 1 से 9 तक की संख्या में हर एक अंक के अन्तर्गत कुछ अक्षर आते हैं. इन अक्षरो को मिलने वाले अंको की ही गणना की जाती है. यह गणना अक्षरो पर आधारित होती है और जन्म तारीख पर भी आधारित होती है. इन्हीं दो तरीको से अंक शास्त्र की सभी गणनाएँ की जाती है केवल नियम अलग हो जाते हैं.

जो गणना नाम के अक्षरों पर आधारित होती है उसे Destiny Number कहते हैं. जो गणना जन्म तारीख पर आधारित होती है उसे Talent Number कहते हैं. दोनों का ही अपना स्वतंत्र महत्व होता है. talent number को हम कभी भी बदल नही सकते हैं लेकिन हां Destiny Number में फिर भी बदलाव किए जा सकते हैं.

A से Z तक के अंको की गणना | Calculating numbers from A to Z

व्यक्ति के नाम के हिज्जो के अनुसार अंक लिया जाता है और फिर उन सभी का जोड़ कर दिया जाता है जब तक कि अन्त तक एक अंक ना मिल जाए. जैसे कि किसी का नाम Ram Singh है. अब हम इस नाम में आने वाले हिज्जो के अधिकार क्षेत्र के अंको को जमा करेगें जब तक कि एक अकेला अंक नहीं मिल जाता है.

उदाहरण | Example

R - 9
A - 1
M - 4
S - 1
I - 9
N - 5
G - 7
H - 8

अब सभी का जोड़ करेगें.

9+1+4+1+9+5+7+8 = 44
4 + 4 = 8

इस प्रकार राम सिंह के नाम का कुल जोड़ 8 आता है. यह रामसिंह का destiny number कहा जाएगा और कई लोग इसे नामांक के नाम से भी जानते हैं. यदि अंको का कुल जोड़ 11 अथवा 22 आ जाए तब इनका अंतिम अंक नहीं निकाला जाता है अर्थात 11 को 1+1 = 2 नहीं किया जाएगा. इसी तरह 22 को भी 4 में नहीं बदला जाएगा. इन दोनो को 11 अथवा 22 के रुप में ही लिया जाएगा. यह दोनो विशेष अंक माने जाते हैं.

स्वास्थ्य अंक में हम जन्म दिन की कुल संख्या का जोड़ करते हैं. जन्म तारीख, माह तथा वर्ष के अंको का कुल योग किया जाता है. जैसे किसी की जन्म तारीख 29/09/1972 है. अब हम इन सभी अंको का जोड़ कर देगें. 2+9+0+9+1+9+7+2 = 39 अब इसे भी जोड़ देगें. 3+9 = 12 इसे फिर जोड़ेगें. 1+2=3

जब तक कि अंतिम संख्या नही मिल जाती तब तक जोड़ना है. इस प्रकार स्वास्थ्य अंक 3 हुआ.

अंक और उनके स्वामी ग्रह | Number and Their Ruling Planets

अंक एक का स्वामी ग्रह सूर्य होता है और अंक एक के प्रभाव से आप भीड़ से अलग चलेगें. अंक 2 का स्वामी ग्रह चंद्रमा होता है और ऎसे लोग समूह में काम करना पसंद करते हैं. अंक 3 का स्वामी ग्रह बृहस्पति होता है और इस अंक के लोग दूसरों के मन को पढ़ने वाले होते हैं. अंक 4 का स्वामी ग्रह यूरेनस अथवा राहु को माना गया है और यह ज्यादा उत्साहित नहीं रहते हैं. अंक 5 का स्वामी ग्रह बुध है और यह बहुत ही ज्यादा बदलाव करने वाले और तर्क करने वाले होते हैं.

अंक 6 का स्वामी ग्रह शुक्र है और यह सौन्दर्य प्रेमी होते हैं. अंक 7 का स्वामी ग्रह नेप्च्यून अथवा केतु को माना जाता है और यह बहुत ही रहस्यमयी हो सकते हैं. अंक 8 का स्वामी ग्रह शनि है और इस अंक के जातक दृढ़ निश्चयी और मेहनती होते हैं. अंक 9 का स्वामी ग्रह मंगल है और इस अंक के जातक परोपकारी होते हैं.

हर्ट नंबर और प्रेम अंक की गणना | Calculating Heart Number and Love Number

अपना हर्ट नंबर और प्रेम अंक  नंबर जानने के लिए आपको अपने नाम की स्पैलिंग के सभी वोवेल्स(a,e,i,o,u) होगा. जब अंत में एक संख्या प्राप्त हो जाए तब वह आपका रोमांस नंबर माना जाएगा. यदि आपके जोड़ की अंतिम संख्या 11 या 22 आए तब इसे दुबारा नहीं जोड़ना है, इन संख्याओं को ऎसे ही लेना है. यदि आपके जोड़ में 14 का अंक आए तब आप इसे फिर से 1+4=5 करेगें. क्योंकि हमें अंतिम अंक लेना है. प्रेमांक में 1 से 9 तक के अंक लेते है जबकि हर्ट नंबर में अंक 11 और 22 को भी लिया गया है.

अब आपको हम अंक शास्त्र के अंक भी बता दें कि किस वोवेल कौन सा अंक मिला है.

A - 1
E - 5
I - 9
O - 6
U - 3

माना एक व्यक्ति का नाम संतोष देवी (Santosh Devi) है. अब हम A के लिए अंक 1 लेगें. O के लिए अंक 6 लेगें. E के लिए अंक 5 लेगें और I के लिए अंक 9 लेगें. अब इन सभी का जोड़ कर देगें.

1+6+5+9 = 21
2+1 = 3

इस प्रकार हमें 3 अंक प्राप्त हुआ और संतोष देवी का रोमांस नंबर 3 माना जाएगा. अंक तीन की खूबियाँ इनके अंदर देखने को मिलेगी.

Categories:

Comment(s): 0:

Leave a comment


(Will not be shown)
(Optional)


Tag cloud