अंकशास्त्र में अंक 9 का महत्व | Importance of Number 9 in Numerology | Number 9 in Numerology

1 से 8 तक के अंकों की चर्चा अब तक हम पिछली वेबकास्ट में कर चुके हैं आज हम अंक नौ की बात करेगें. अंक नौ में सभी अंको का समावेश माना जाता है. यह सभी अंको में सबसे बड़ा और शक्तिशाली माना जाता है. इसमें तीन का गुणांक तीन बार आता है अर्थात 3x3x3 = 9 होता है. इसलिए इस अंक के लोगों में रचनात्मकता और कल्पनाशक्ति बहुत अच्छी होती है. अंक नौ का स्वामी ग्रह मंगल होता है और मंगल के प्रभाव से आप बहुत साहसी और पराक्रमी व्यक्ति भी होते है.

अंक नौ के प्रभाव से आपकी विशेषताएँ | Characteristics of Number 9

सबसे पहले हम अंक नौ की विशेषताओ की बात करेगें. अंक नौ में सभी अंको का समावेश माना जाता है इसलिए आपके भीतर अंक एक का नेतृत्व करने का गुण शामिल होगा. अंक दो के प्रभाव से आपके अंदर सहयोग की भावना होगी, अंक तीन की कल्पना व प्रेरणाशक्ति आपके अंदर होगी और चार के प्रभाव से आप में आदेश और निर्माण करने के गुण होगें.

अंक पांच के गुण से वृद्धि व उन्नति करेगें. आपके अंदर छ्: के प्रभाव से सभी से प्रेम व जिम्मेदारियों के प्रति जागरुक रहेगें. सात से बुद्धिमत्ता व पूर्णता मिलेगी और अंक आठ के प्रभाव से सत्ता पाने वाले व न्याय करने वाले होगें. सभी अंको की विशेषताएँ तो होती ही है, साथ में इस अंक में अपनी स्वयं की विशेषताएँ जैसे भाईचारा, बंधुओ से प्यार व देवत्व का भी गुण होता है.

आपको जीवन में बहुत सी निराशाएँ हाथ लगती हैं लेकिन जब आपको अपने खुद की पहचान होती है और जब आप भीतर से मजबूत होते हैं तब आप ईश्वर के प्रति प्रेम  से जुड़ जाते हैं. आप जीवन में मिलने वाले दुखो व तकलीफों से मजबूत बनते हैं.

आपके इरादे जब अपने लिए कुछ करने के होते है तब आपको दर्द ही मिलता हैं चाहे वह धन संबंधित मामला हो या घरेलू बात हो या सत्ता हो या प्रेम संबंधित कोई बात हो. जीवन के बाद के वर्षो में आप स्वयं के लिए सोचना ही बंद कर देते हैं.

आपकी सबसे अच्छी बात यह होती है कि आप बहुत देर तक दुखो के बारे में सोचते नहीं रहते हैं और अपने दुखो से आप स्वयं ही जल्दी उबर जाते है क्योकि आपका यह गुण भगवान की ही देन होती है.

आपका भाग्य खुद चमकता है और धन भी आपके पास आ ही जाता है और आप अपने काम में भी सफल हो जाते हैं चाहे यह सफलता स्वदेश में मिले या विदेशो से इसका संबंध बनता हो.

आप अपने जीवन में बहुत से लोगो से मिलते हैं और उनमें प्रेम बांटते हैं, दूसरो की देखभाल करने व प्रेम से आप प्रेम बांटने की एक वस्तु बन जाते हैं क्योकि आप निजी जीवन में इतने दुख उठा लेते हैं कि बाद में आपको अपने लिए कुछ भावनाएँ ही महसूस नही होती हैं लेकिन दूसरों की तकलीफ आपसे देखी नहीं जाती है.

अंक नौ के सकारात्मक पहलू | Positive Traits of Number 9

कुछ रोशनी आपके सकारात्मक पहलुओं पर डालने का प्रयास करते हैं. आप आध्यात्मिक व दिव्य जीवन जीने की क्षमता व विशेषता रखते हैं. जन्मजात ही आपका झुकाव ईश्वर की ओर होता है. आप नि:स्वार्थ भाव से लोगों की सेवा करते हैं और आप क्षमाशील होते हैं. आप किसी भी बात को ज्यादा देर अपने अंदर नहीं रखते हैं.

आपके अंदर मानवता का गुण होता है, आप में सहनशीलता होती है, उदारता होती है, आप दानवीर होते हैं, परोपकारिता व धर्मावलम्बी होना आपकी अन्य विशेषताएँ हैं. आपके अंदर कलात्मकता और नाटकीय प्रतिभा होती है साथ ही आपके अंदर लेखन प्रतिभा भी होती है.आप आवेगी व जोशीले होते हैं और आप अपरंपरागत भी होते हैं अर्थात कुछ काम ढर्रे से हटकर करते हैं.

अंक नौ के प्रभाव से आपके नकारात्मक पहलू | Negative Traits of Number 9

आइए आपके कुछ कमियों के बारे में भी चर्चा करते हैं. आप बहुत ही मूडी हो जाते हैं और आप आवेगी व्यक्ति होते हैं. जल्दी ही आवेश में आ जाते हैं. आप बहुत ही जल्दबाजी मे रहते हैं और बिना पूरी बात जाने या अनजाने में ही जल्दी से प्रतिक्रिया व्यक्त कर देते हैं और फिर बाद में पछताते भी हैं.

आपके प्रेम संबंध बदलते रहते हैं अर्थात आप एक बाद दूसरे व्यक्ति से जुड़ जाते हैं. इसका अर्थ यह नहीं कि आप विश्वसनीय नहीं है़. प्रेम संबंध जितनी ईमानदारी से आप निभाते हैं उतना आपको बदले में नहीं मिलता है. आप धन संबंधी मामलो में भी लापरवाह होते हैं.

आपका रुझान उच्च स्तर के रहन सहन की ओर होगा जैसे आपको खाना, पीना और रहना और मौज मस्ती करना पसंद होगा जो आपके लिए नुकसानदेह भी हो सकता है. यदि आपने अपने गुणो का उपयोग सही समय और स्थान पर नहीं किया तब आप किसी भी क्षेत्र में महारत हासिल नही कर पाएंगे. बेहतर है कि आप किसी एक क्षेत्र में महारत हासिल करें.

स्वभाव से आप अच्छे होते हुए भी बहुत बार स्वार्थी हो जाते हैं और तब आपके अंदर सहनशीलता भी कम हो जाती है. कुछ बातो में आप पोजेस्सिव भी हो जाते हैं और कई बार भ्रामक स्थिति भी पैदा कर देते हैं.

अंक नौ के प्रभाव से आपका व्यवसाय | Career Prospects of Number 9

अब हम अंक नौ से संबंधित व्यवसायो का जिक्र करते हैं. जिन क्षेत्र में कल्पनाशीलता और रचनात्मकता की आवश्यकता होती है उन व्यवसायो में आप ज्यादा सफल हो सकते हैं.

जैसे कला के क्षेत्र में, ड्रामा आदि में, पुस्तक लेखन में, थियेटर व अभिनय में, डिजाईनिंग और पेंटिंग आदि क्षेत्रो में कल्पना और रचनात्मकता की आवश्यकता होती है इसलिए इनसे संबंधित किसी क्षेत्र मे  आपका व्यवसाय हो सकता है.

आप धर्म संबंधी क्षेत्र में भी कार्यरत हो सकते हैं अथवा आप लेक्चरर भी हो सकते हैं. आप रचना करने वाले भी हो सकते हैं. जैसे संगीत आदि की रचना करना और आप पब्लिशिंग आदि क्षेत्र में भी कार्यरत हो सकते हैं.

वह सभी काम जिनका संबंध भोग - विलास, खाद्य पदार्थ, मनोरंजन पर्यटन आदि से होता है, इन व्यवसायों से भी आपके आय के साधन बन सकते हैं. आपके भीतर पूर्ण रुप से मानवता की भावनाएँ स्थित होती हैं जिससे आप एक कुशल सर्जन भी बन सकते हैं.

अंक नौ के प्रभाव से आपका निजी जीवन | Number 9 and Your Personal Life

अंत में हम अंक नौ के निजी जीवन के बारे में जानने का प्रयास करते हैं. आप खुशमिजाज व्यक्तित्व के स्वामी होते है और आप रोमांटिक मिजाज के व्यक्ति भी होते हैं. आप भरोसेमंद और विश्वसनीय होते हैं इसलिए लोग आप पर आंख मूदकर भी विश्वास कर लेते हैं.

आप अपने साथी से प्रेम व स्नेह पाने के लिए सदा लालायित रह सकते हैं और अपने साथी को खुश रखने के लिए आप कुछ भी करने को तैयार रह सकते हैं.

आप एक अच्छे साथी सिद्ध होते हैं, लोगो द्वारा आपको पसंद किया जाता है और आपको जिन्दगी में मौज - मस्ती करना अच्छा लगता है हालांकि आपका निजी जीवन ज्यादा अच्छा नहीं होता है. फिर भी आप जिन्दगी को जिन्दादिली से जीना चाहते हैं.

आपके जीवन का आरंभिक समय परेशानियों से घिरा रहता है और आप खुद भी एक हद तक इसके लिए जिम्मेवार होते हैं. बढ़ती उम्र के साथ धीरे - धीरे आपका अवैयक्तिक (impersonal) रुप निखरने लगता है और आपका व्यक्तित्व पहले से सुंदर हो जाता है.

आपके प्रेम संबंध विफल ही रहते हैं लेकिन आप अपनी घरेलू जिन्दगी में एक आदर्श व्यक्ति के रुप में पहचाने जाते हैं. शादी, घर - परिवार व मित्रो के लिए आप आदर्श ही होते हैं. आपके जीवन में कोई भी रिश्ता तभी कामयाब हो सकता है जब आप उसके साथ अपना गहरा लगाव न रखें.

ईश्वर की कृपा से आपको जीवन में स्वत: ही बहुत सारे अवसर मिलते हैं और लोगो का सहयोग मिलता है जो आपको आगे बढ़ने के लिए सहायक होते हैं. आप अपने परिवार के वरिष्ठ सदस्य से प्रभावित रहते हैं विशेषतौर से अपने पिता से. आप उनके गुण तथा अवगुण दोनो से ही प्रभावित होते हैं.

Categories:

Comment(s): 0:

Leave a comment


(Will not be shown)
(Optional)


Tag cloud